Breaking News

सीएए के विरोध में दरभंगा में मुस्लिम संगठनों का अभूतपूर्व प्रदर्शन, बड़ी तादाद में महिलाएं भी हुई शामिल

दरभंगा : विभिन्न मुस्लिम संगठनों की ओर से रविवार को सीएए और एनआरसी के विरोध में जुझारू एवं अभूतपूर्व प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन में मानो जनसैलाब उमड़ गया था।

प्रदर्शनकारी तिरंगा झंडा लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के विरोध में नारे लगा रहे थे। प्रदर्शन किलाघाट स्थित हमिदिया मदरसा से शुरू हुई और नाका नं. 5 होते हुए जनकार्य पथ से गुजरकर दारूभट्ठी चौक होते हुए लोहिया चौक पहुंची और वहां से समाहरणालय होते हुए पोलो मैदान के धरनास्थल पर पहुंचकर सभा में तब्दील हो गया।

प्रदर्शन में शामिल लोगों के संख्या का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि नाका नं. 5 के निकट प्रदर्शन पहुंचा, तो वहां विडियोग्राफी करने वाले भी थे और 22 मिनट तक हुजुम में प्रदर्शनकारी निकलते रहे।

सबसे बड़ी बात थी कि प्रदर्शन में तिल रखने की जगह नहीं थी। इस प्रदर्शन को लेकर पुलिस प्रशासन के होश दो दिनों से उड़े हुए थे। भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती सुबह से ही की गयी थी। लेकिन प्रदर्शन पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा और कहीं से भी कोई भी अप्रिय घटना की बात तो दूर छोटी सी भी घटना नहीं घटी।

चूंकि प्रदर्शनकारी कहीं से भी अशोभनीय नारेबाजी नहीं कर रहे थे, बल्कि पूरी तरह संयमित होकर नारेबाजी कर रहे थे। जबकि दो दिन कबल ही इसी मुद्दे पर राजद द्वारा बिहार बंद के दौरान यहां पत्थरबाजी की घटना हुई थी। पत्रकारों पर हमले हुए थे। जिसके कारण प्रशासन की बात तो दूर आमलोगों में भी संशय की स्थिति थी। पर पत्रकार भी आराम से समाचार संकलन का कार्य करते रहे।

वहीं पोलो मैदान में जब प्रदर्शनकारी पहुंचे, तो वहां कुछ राजनेता भी पहुंच गये। जिसमें पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव भी थे। जिन्होंने बिल के विरोध में सरकार की जमकर आलोचना की। वहां पर प्रदर्शनकारियों ने संकल्प लिया कि केन्द्र सरकार इस बिल को वापस लें। नहीं तो वापस लेने तक उनलोगों का शांतिपूर्ण आंदोलन चलता रहेगा। प्रदर्शनकारियों ने देश के राष्टÑपति महामहिम के नाम एक ज्ञापन भी जिलाधिकारी को सौंपा।

प्रदर्शन में मुमताज आलम, मोइन कुरैशी, अमानुल्लाह खान, अताउल्लाह खान, शोयेब अहमद खान, रियाज अली खान, नफीसुल हक रिंकू, रियाज खान कादरी, रुस्तम कुरैशी, प्रो. शाकिर खलीक, अवकाशप्राप्त एडीएम नियाज अहमद, भीम आर्मी ज्ञानेंद्र पासवान, भोला पासवान, दीदार हुसैन चांद, सरफे आलम तमन्ना, नियाज अहमद, मकसूद आलम खान पप्पू, इंजीनियर ईशतियाक आलम, सैयद आफताब अशरफ, आस मोहम्मद, कैस अहमद खान, रजाउल्लाह अंसारी

रजी अहमद, मोहम्मद उमर, इकबाल हसन रिशु, शाह मो. शमीम, गुलाम मोहम्मद, वार्ड पार्षद रियासत अली, आस मोहम्मद, जावेद करीम, मो. दिलशाद, मो. गुलाब, डॉ. ए. एन. आर. एजाज, अहमद खान कल्लू, कारी नसीम अख्तर, उमर अली खान, सलमान अहमद रजवी, शाहिद अतहर, हाफिज निजामुद्दीन नूरी, राजा अंसारी, नियाज अहमद इंसाफ मंच, अमजद अब्बास मुखिया, मुजाहिद उल इस्लाम, खालिद रजा कादरी, मोहम्मद शाहिद, तनवीर आलम, नवाब अख्तर, अकरम सिद्दीकी, हारून राईन, सैयद खलीकुजमा पप्पू, भुट्टो कुरैशी, रियाजुद्दीन कुरैशी, अकबर अली खान,

मो. रजा खान, नौशाद अहमद, जावेद खान, हाफिज लईक मंजर वाजदी, मोहम्मद मुन्ना, मोहम्मद बशीर, डॉ. इमामुल हक, एस. एम. जिया, साजिद कैसर, मौलाना इमाम हुसैन मिस्बाही, खालिद रजा कादरी, निजामुल हुदा, नसीर अहमद, बाबर आलम, राजू खान, हिना खान, मो. अनवर, अकरम कुरैशी आदि के नाम उल्लेखनीय है।

Check Also

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एक दिवसीय कार्यशाला दरभंगा डीएमसीएच ऑडिटोरियम में आयोजित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : स्वास्थ्य विभाग, बिहार सरकार द्वारा निर्गत पत्र के …