Breaking News

छात्रों को जागरूक कर मनाई गई संविधान निर्माता की पुण्यतिथि

नगराम/लखनऊ ( प्रमोद राही ) नगराम क्षेत्र के जवाहरलाल नेहरू इंटर कॉलेज मे संविधान निर्माता की पुण्यतिथि हर्षोल्लास के साथ मनाई गई इस अवसर पर स्कूल के बच्चों को संविधान निर्माता की जीवनी पर प्रकाश डालकर जागरूक किया गया जवाहरलाल नेहरू माध्यमिक विद्यालय बहरौली गंगागंज में आयोजित राष्ट्र श्रद्धांजलि समारोह में आधुनिक भारत के निर्माता व भारतीय संविधान के पिता बोधिसत्व बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी को समस्त विद्यालय के स्टाफ वा छात्र-छात्राओं ने श्रद्धांजलि अर्पित की इस अवसर पर कॉलेज के प्रधानाचार्य अनिल कुमार वर्मा ने बच्चों को डॉक्टर अंबेडकर जी के व्यक्तित्व व देश के प्रति अनेक योगदान पर चर्चा करते हुए बच्चों को जागरूक किया

डॉक्टर अंबेडकर जी ने भारत में विषमता वादी व्यवस्था पर प्रहार किया तथा समता समानता के सिद्धांत पर जोर देते हुए देश के पिछड़े वंचित और शोषित और पीड़ित व नारियों को संविधान के माध्यम से अधिकार दिलाए डॉक्टर अंबेडकर की अर्थ शास्त्र राज्य शास्त्र तथा संवैधानिककानून के क्षेत्र में बुद्धिमता की कथा कल्पना अलौकिक थी वे देश के प्रथम श्रेणी के महापुरुष ही नहीं बल्कि भारतीय संविधान के शिल्पकार के रूप में भी जाने जाते थे उन्होंने देश को विकास की संकल्पना तथा परियोजनाओं का उपहार दिया व एक इतिहासकार अर्थशास्त्री समाजशास्त्री अनुसंधान विधिवेत्ता प्रभावी वक्ता पत्रकार समाज के मार्गदर्शन संशोधन एवं ग्रंथ कार के रूप में विख्यात है प्रोफेसर लास्की ने उन्हें दिया हुआ नाम क्रांतिकारी के नाम से संबोधित किया था

उन्होंने बहुउद्देशीय नदी घाटी विकास जल संसाधन का उपयोग रेलवे और जलमार्ग तकनीकी बिजली बोर्ड का निर्माण सहित अनेक विकास की योजनाओं के स्वतंत्रता के बाद आधारशिला रखी अमेरिका की टेनेंसी नदी घाटी का विशेष अध्ययन किया इसके अलावा उन्होंने भारतीय बैंकिंग व्यवस्था के जन्मदाता भी कहा जाता है वह भारत के पहले कानून मंत्री थे वह ग्राम मंत्री भी रहे शिक्षा पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा शेरनी का वह दूध है जो इसे पिएगा वही दहाड़ेगा इस प्रकार इन्होंने शिक्षा के महत्व को संबोधित किया

Check Also

प्राकृतिक छटा पर जेसीबी मशीन का कहर

चकरनगर/इटावा। ऊंचे टीले और कंटीली झाड़ियों को संजोए रखने वाला चकरनगर बीहड़ क्षेत्र धीरे-धीरे प्राकृतिक …