Breaking News

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र का निधन, मिथिला में शोक की लहर

डेस्क : पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र के निधन की खबर मिलते ही पूरे मिथिला में शोक की लहर फैल गयी। जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित कर लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि देना शुरू किया और व्यक्तिगत स्तर पर भी शोक संवेदना व्यक्त की। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय ने डॉ. मिश्र के सम्मान में सभी अंगीभूत महाविद्यालय व स्रातकोत्तर विभागों में 20 अगस्त को अवकाश घोषित कर दिया है।

वहीं सांसद गोपालजी ठाकुर ने कहा कि डॉ. मिश्र बहुआयामी प्रतिभा के धनी थे। उनकी पहचान जमीन से जुड़े राजनेता के रूप में होने के साथ-साथ एक अर्थशास्त्री के रूप में भी थी। उन्होंने कई ऐसी पुस्तकें लिखीं हैं जिसमें राज्य के नागरिकों की पीड़ा उभरकर आती है। वह पहली बार 1968 में स्रातक क्षेत्र से विधान परिषद् के सदस्य बने। श्री ठाकुर ने कहा कि उनके निधन से बिहार और मिथिला में राजनीति एवं सार्वजनिक जीवन में काम करने वालों की अपूर्णीय क्षति हुई है। जिला कांग्रेस कार्यालय में सीताराम चौधरी की अध्यक्षता में शोकसभा का आयोजन किया गया।

जिसमें प्रो. दिनेश झा, शंभु नाथ चौधरी पालन, पूर्व उपमहापौर प्रबोध कुमार सिन्हा, रामनारायण झा, अजय कुमार जालान, डॉ. बैद्यनाथ झा बैजू, रीता सिंह, प्रतिभा सिंह, पूनम झा, मो. अस्लम, दयानन्द पासवान, रामशखा पासवान, राहुल कुमार झा, उदित नारायण चौधरी, रामचन्द्र ठाकुर, अरूण कुमार झा, दिनेश गंगनानी, विद्यानन्द चौधरी आदि ने शोक व्यक्त किया। डॉ. मिश्र के निधन पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष हरि सहनी की अध्यक्षता में शोकसभा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में आदित्य नारायण चौधरी मन्ना, संजीव साह, प्रदीप ठाकुर, सुजित मल्लिक, विजय चौधरी, वीणा झा, अमलेश झा, मुकुन्द चौधरी, राजू तिवारी, अभयानंद झा, मनोज कुमार झा पप्पु, राजेश रंजन, गणेश महथा, रमाशंकर ठाकुर, मनीष जायसवाल, रामपदारथ ठाकुर, अशोक, अमर यादव आदि उपस्थित थे। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष और विधायक डॉ. अशोक कुमार ने डॉ. मिश्र के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि यह पूरे देश के लिए अपूर्णीय क्षति है। इसके अलावा कुशेश्वरस्थान में शंकर कुमार झा, मधुकांत झा, बादल सिंह, पल्टन मुखिया, शिव बालक यादव, शोभाकांत मिश्र, रामनारायण यादव, जीवछ झा, राजीव कुमार झा, दिवाकांत मिश्र, सचिदानन्द चौधरी, अशोक कुमार यादव, मणिकांत झा, कपिलदेव महतो, पिंकु कुमार यादव, अमरेन्द्र कुमार सिंह, उमाशंकर यादव, संजय सुन्दरम, रामानुज यादव, ब्रजभूषण सिंह, राज कुमार राय आदि ने शोक व्यक्त किया है। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के अभिषद् सदस्य डॉ. हरि नारायण सिंह ने डॉ. मिश्र के निधन पर शोक व्यक्त किया है। वहीं विद्यापति सेवा संस्थान की ओर से एमएलएसएम कॉलेज में शोक सभा का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता प्रधानाचार्य डॉ. विद्यानाथ झा ने किया। इस अवसर पर संस्थान के महासचिव डॉ. बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने कहा कि डॉ. मिश्र का निधन राष्टÑीय क्षति है। इस अवसर पर प्रवीण कुमार झा, महानन्द झा, चन्द्रशेखर झा बूढ़ाभाई, डॉ. उदयकांत मिश्र, विनोद कुमार झा, जयनारायण साह, गनौर पासवान, दुर्गानन्द झा, मणिकांत झा सहित दर्जनों लोगों ने श्रद्धा-सुमन अर्पित किया। बहेड़ी प्रखंड के पघारी सामुदायिक भवन में मानवाधिकार संरक्षण प्रतिष्ठान के जिलाध्यक्ष प्रदीप कुमार चौधरी की अध्यक्षता में शोकसभा का आयोजन किया गया।

वहीं एमबीडी कॉलेज, रामपुरा, सिंहवाड़ा में प्रधानाचार्य शिवेश्वर पाठकर की अध्यक्षता में दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर परमानन्द चौबे, डॉ. बिरेन्द्र कुमार चतुर्वेदी, पुण्यानन्द मिश्र, गुलाब हाफिज, महाकांत मिश्र, पप्पु चौधरी आदि उपस्थित थे। बिहार प्रदेश जनता दल यू शिक्षक प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष डॉ. राममोहन झा ने डॉ. मिश्र के निधन पर शोक व्यक्त किया है। स्थानीय बार एसोसिएशन में भी वकीलों ने डॉ. मिश्र के निधन पर शोक व्यक्त किया। संवेदना व्यक्त करने वालों में अरूण कुमार मिश्र, बैद्यनाथ झा, तंत्रनाथ ठाकुर, विजय नारायण चौधरी, रमणजी चौधरी, मृदुला सिंह, बिरेंद्र कुमार सिंह, संतोष कुमार सिंहा, सुधीर कुमार चौधरी, चौधरी विद्यानंद राय आदि ने पुष्पांजलि अर्पित कर डॉ. मिश्र को श्रद्धांजलि दी।

Check Also

दरभंगा पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 2 आर्म्स 2 बाइक के साथ अंतरजिला गिरोह के 4 लूटेरा धराये

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम ने सोमवार को …