Breaking News

रावण से मुलाकात :: कैंडल मार्च निकाल सामाजिक बुराइयों और समस्याओं के प्रतिकात्मक ‘रावण’ को मिटाने के लिए संकल्प

लखनऊ (रामकिशोर रावत) : विजय पर्व (दशहरा) की पूर्व संध्या पर ‘बाल चौपाल’ द्वारा आयोजित कार्यक्रम “आओ मिटायें असली रावण” का आयोजन आज गांधी प्रतिमा हजरतगंज में प्रमुख संयोजक अनूप मिश्रा ‘अपूर्व’ के संयोजन और संचालन में सम्पन्न हुआ।

इस अवसर पर वर्तमान समय के दशाननों (रावण) के प्रतीकों ‘बलात्कार, भूण हत्या, एसिड अटैक, नशा,दहेज, प्रदूषण, प्लास्टिक, पॉलीथिन बैग, जनसंख्या वृद्धि’ आदि का अन्त करने के लिए लोगों को जागरूक करके संकल्प लेने के उद्देश्य से गांधी प्रतिमा से जनपय मार्केट तक कैण्डिल मार्च का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम संयोजक अनूप मिश्रा ‘अपूर्व’ ने कहा कि, ‘वर्तमान में मौजूद सामाजिक बुराइयों और समस्याओं रूपी रावण का अन्त करने के लिए सबसे पहले हम सभी को अपने अन्दर की बुराइयों को खत्म करना होगा। एकजुटता और सजगता के जरिये ही आज की चुनौती बने इन दशाननों का अन्त किया जा सकता है।

नुक्कड़ नाटक ‘रावण से मुलाकात’

कार्यक्रम में अनूप मिश्रा ‘अपूर्व’ द्वारा लिखित एवं निर्देशित नुक्कड़ नाटक ‘रावण से मुलाकात’ का मंचन फ्लाइंग वर्डस फाउन्डेशन के सहयोग से किया गया, जिसमें अनूपमिश्रा अपूर्व , अभिषेक मिश्रा अभि’ और ऋषभ सिंह रावत, रीतेश गुप्ता, प्रिया मिश्रा, सोनू, स्वर्णिमा तिवारी ने अहम भूमिका निभायी। नाटक के जरिये लोगों को संदेश दिया गया कि रावण के पुतले में कान फोडू बम और राकेट जलाकर प्रदूषण फैलाने से कुछ हासिल नहीं होगा, सही मायने में हम सभी को समाज में व्याप्त बुराईयों को मिटाने के लिए अच्छाई के रास्ते पर चलना चाहिए। बाल कलाकार उर्वि पाण्डेय द्वारा फैंसी ड्रेस के माध्यम से लोगों से नशा न करने की अपील की गई।

इस अवसर पर सहयोगी संस्था यूय अगेन्सट रेप के राज्य प्रतिनिधि तनिष्क तिवारी, अर्पित, प्रतिभा, अवन्तिका, साक्षी, हर्ष, सैफ द्वारा लोगों से सिग्नेचर कैम्पेन में हस्ताक्षर करवाये।

पदयात्रा में अनूप मिश्रा ‘अपूर्व’ अभिषेक मिश्रा ‘अभि, तनिष्क तिवारी और संगीता मिश्रा (संस्थापिका समीक्षा फाउन्डेशन), संगीता सिंह एडवोकेट, पप्पू अवस्थी, रंजना
सिंह, मंजूलिका, नीलू श्रीवास्तव, वैभव चतुर्वेदी, साधना जग्गी, निशू त्यागी, अंशिका त्यागी सहित कई गणमान्य शहरवासी शामिल हुये थे।

Check Also

Anand

गरीब बच्चों में शिक्षा के जरिये बदलाव ला रहे आनंद ने विदेश की 24 प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी में चयनित होकर बनाया कीर्तिमान

आनंद कृष्ण मिश्रा को मिली एक करोड़ 20 लाख एक हजार अमेरिकी डॉलर की छात्रवृत्ति …