Breaking News

ऑक्सीजन प्लांट को लेकर डीएमसीएच की लापरवाही से डीएम नाराज

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : समाहरणालय अवस्थित अम्बेडकर सभागार में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम की अध्यक्षता में डीएमसीएच में लगाए जा रहे ऑक्सीजन प्लांट को लेकर समीक्षा बैठक की गई।

बैठक में डीएमसीएच के अधीक्षक को संस्थापित हो रहे ऑक्सीजन प्लांट के संबंध में जानकारी नहीं रहने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताई तथा अधीक्षक व प्राचार्य, डीएमसीएच के विरुद्ध स्वास्थ्य विभाग,बिहार को प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया। 

Meeting about Oxygen Plant

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की तीसरी लहर कब आएगी किसी को नहीं पता। कोरोना की दूसरी लहर में भी डीएमसीएच में परेशानी हुई थी। उन्होंने अधीक्षक, डीएमसीएच एवं प्राचार्य, डीएमसीएच को स्वयं संस्थापित किये जा रहे सभी ऑक्सिजन प्लांट के संबंध में 07 बिंदुओं पर समीक्षा कर प्रतिवेदन तैयार कर अगली बैठक में भाग लेने का निर्देश दिया। 

उन्होंने कहा कि कौन सा ऑक्सीजन प्लांट कब बनकर तैयार होगा तथा इसे किस एजेंसी द्वारा बनाया जा रहा है। किस प्लांट का सिविल वर्क किस एजेंसी द्वारा किया जा रहा है। ऑक्सीजन पाइप लाइन कौन लगाएगा और कब तक लगाएगा। ट्रांसफार्मर संस्थापन की क्या स्थिति है, तथा ऑक्सिजन प्लांट का संचालन किसके द्वारा किया जाएगा। इसकी पूरी जानकारी रखें, क्योंकि ये प्लांट डीएमसीएच को ही संचालित करने हैं।

DM Darbhanga

अधीक्षक, डीएमसीएच ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग,बिहार द्वारा किसी सरकारी पदाधिकारी को इन प्लांटों का नोडल पदाधिकारी बनाने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि वैसे किसी कुशल तकनीकी व्यक्ति को चिन्हित किया जाए, जिसके पास ऑक्सीजन प्लांट संचालित करने के लिए पर्याप्त समय हो। ताकि, उसे प्रशिक्षण भी दिलाया जा सके।     

बैठक में अधीक्षक द्वारा बताया गया कि 20 हजार लीटर का एक ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण कार्य पूर्ण होने की स्थिति में है। 15 अगस्त तक प्लांट तैयार हो जाएगा। बताया गया कि बेनीपुर अनुमंडलीय अस्पताल के लिए भी एक ऑक्सीजन प्लांट बन रहा है, जिसमें पाइप लाइन बिछ चुका है।

जिलाधिकारी ने अगली बैठक में सभी ऑक्सीजन प्लांट की पूरी जानकारी के साथ बैठक में भाग लेने का निर्देश अधीक्षक को दिया। कोरोना- टेस्टिंग के संबंध में पूछने पर डीपीएम, जिला स्वास्थ्य समिति, दरभंगा द्वारा बताया गया कि प्रतिदिन 06 हजार कोरोना सैम्पल की टेस्टिंग की जा रही है जिनमें 1400 आरटीपीसीआर टेस्टिंग शामिल है। डीएमसीएच के लैब में दरभंगा, मधुबनी एवं सीतामढ़ी के 2200 कोरोना सैम्पल का प्रतिदिन आरटीपीसीआर जांच की जा रही है। जाँच रिपोर्ट 24 घंटे में दिये जा रहे हैं।

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि वैसे पंचायतों को चिन्हित किया जाए जहां एक भी टेस्टिंग नहीं हुई है। खासकर के शहरी क्षेत्र, बहेड़ी एवं कुशेश्वरस्थान पूर्वी जहां कोरोना के ज्यादा मामले मिले हैं।  उन्होंने दरभंगा हवाई अड्डा पर मुंबई, दिल्ली एवं कोलकाता से आने वाली उड़ानों के यात्रियों के टेस्टिंग करवाते रहने के निर्देश दिए। हैदराबाद से आने वाली उड़ान में भी जांच करवाने के निर्देश दिए। रेल यात्रियों के संबंध में डीपीएम ने बताया कि शहीद एक्सप्रेस से उतरने वाले यात्रियों की कोरोना जांच की जाती है। यह ट्रेन कोलकाता से मुंबई तक चलती है। आरटीपीसीआर वैन के संबंध में बताया गया कि इसके आरटीपीसीआर मशीन में गड़बड़ी आ गयी थी। नई मशीन आ गई है। एक-दो दिनों में इस वैन से आरटीपीसीआर जांच प्रारंभ हो जाएगी। इससे प्रतिदिन एक हजार कोविड टेस्टिंग इस वान के माध्यम से किया जा सकेगा।  

कोरोना के डेल्टा वैरीअंट के संबंध में बताया गया कि अभी तक दरभंगा में डेल्टा वैरीअंट नहीं मिला है।डीपीएम जीविका ने बताया कि 28 जुलाई से बेनीपुर अनुमंडल अस्पताल में दीदी की रसोई प्रारंभ हो जाएगा। इस रसोई से इनडोर एवं आउटडोर के मरीज को भोजन की आपूर्ति की जाएगी। इनडोर मरीजों के लिए दोनों जून के भोजन के लिए 150 रुपये लिए जाएंगे। आउटडोर के मरीजों के लिए भोजन की दर जीविका समूह तय करेगी।     

बैठक में सिविल सर्जन डॉ संजीव कुमार सिन्हा, डीएमसीएच के सुपरिटेंडेंट मणी भूषण शर्मा, उप निदेशक जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता, केयर इंडिया की जिला समन्वयक डॉ. श्रद्धा झा, डीपीएम विशाल कुमार, डीपीएम, जीविका मुकेश तिवारी सुधांशु सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Check Also

बोले सत्यम सहाय – तीव्र गति से बाढ़ राहत कार्य जारी, अबतक 786 क्विंटल पशुचारा वितरित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : जिला आपदा प्रबंधन, दरभंगा के प्रभारी पदाधिकारी सत्यम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *