Breaking News

टैंकों की गड़गड़ाहट के साथ शान से निकली परेड, पुष्प वर्षा के बीच फहराया तिरंगा

राज प्रताप सिंह,लखनऊ ब्यूरो। उमंग, उल्लास और मीठी-मीठी शहनाई की धुन के बीच 71वें गणतंत्र दिवस को लखनऊ में रंगारंग कार्यक्रमों के बीच धूमधाम से मनाया गया। विधानभवन के सामने परेड का आयोजन किया गया। परेड के दौरान हेलीकॉप्टर से फूल बरसाए गए। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने परेड की सलामी ली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने सभी प्रदेशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दीं।सड़क से जब सेना के जवानों के साथ देश भक्ति के रंग में रंगे स्कूली बच्चों ने कदमताल किया तो उनका जज्बा देखते ही बना। इनके बीच में चल रहे बैण्ड की धुनें देशभक्ति की अलख जगा रहीं थीं। तिरंगे वाले गुब्बारे छुड़ाए जाने पर बच्चे उनको काफी देर तक निहारते रहे।


उधर जब हेेलीीकॉप्टर से फूलों की बौछार हुई तो भी सबसे अधिक मजा बच्चों ने ही लिया। हर कोई बस इसी सोच के साथ कि उसे और कोई काम नहीं बस गंणतंत्र दिवस मनाना है। सुबह से ही परेड देखने वालों की भीड़ सड़क पर जमा होने लगी। विधानभवन के सामने भी रविवार को इस गौरवपूर्ण समारोह की हर कोई बारीकी से झलक लेने को आतुर दिखा। 


सड़क के दोनों ओर परेड की छटा निहारने पहुंचे लोगगणतंत्र दिवस परेड की छटा निहारने के लिए चारबाग से लेकर केडी सिंह बाबू स्टेडियम तक सड़क के दोनों ओर रंग-बिरंगे परिधानों में बच्चे, बूढ़े और जवानों का उत्साह दिखाई दिया। इस मौके पर शानदार, सुखद, गौरवपूर्ण और भव्य दृश्यों की साक्षी बनी परेड जीवन भर के लिए यादगार बन गई। गणतंत्र दिवस का कार्यक्रम देखने के लिए लोगों में उत्साह देखते ही बना। वहीं, प्रदर्शनी और झांकियों की फोटो खींचने के लिए भी लोगों में होड़ लगी रही। 

परिवहन विभाग, उद्यान विभाग, अमीनाबाद इंटर कॉलेज, इग्नू,  आदि की ओर से निकाली गई झाकियां आकर्षण का केंद्र रहीं। लखनऊ पब्लिक स्कूल की चंद्रयान 2 की झांकी की बहुत पसंद की गई। इस दौरान कैबिनेट व राज्य मंत्री भी यहां मौजूद रहे। गणतंत्र दिवस परेड की शुरुआत रेलवे स्टेडियम, चारबाग से सेना के वरिष्ठ अधिकारी की अगुआई में शुरू हुई जो केकेसी तिराहा, हुसैनगंज चौराहा, रायल होटल चौराहा, विधानसभा के सामने से होते हुए हजरतगंज चौराहा से अल्का तिराहा, मेफेयर तिराहा, हिन्दी संस्थान तिराहा होते हुये केडी सिंह बाबू स्टेडियम पर समाप्त हुई। 


नेतृत्व परेड कमाण्डर मेजर वात्सल्य कर रहे थे। उनके पीछे 48 आर्म्स रेजीमेंट टी-90 टैंक भीष्मा चल रहा था। तो उसके पीछे-पीछे लोगों को 14 गार्डस को बीएमपी-आईसीवी, लाइट फील्डगन, एकीकृत संचार वाहन, इंटीग्रेटेड कमाण्ड एवं कंट्रोल मल्टी परपज प्लेट फार्म और 7.62 एमएम लाईट मशीन गन दिखाई दी। सेना की विभिन्न टुकड़ियां इनके पीछे कदमताल करते हुए चली आ रही थीं। चार डोगरा रजीमेंट की पुरुष टुकड़ी, उसके पीछे एएमसी सेंटर कमाण्ड का ब्रास बैंड चल रहा था। इसके पीछे 16 जाट रेजीमेंट की पुरुष टुकड़ी, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, सशस्त्र सीमा बल की पुरुष और महिला टुकड़ी अपने परेड की शान बढ़ा रहीं थीं। यूपी पुलिस, 35वीं पीएसी और उसके बाद जब उत्तर प्रदेश एटीएस कमाण्डो दिखाई दिये तो लोग उनको मोबाइल के कैमरों में कैद करने लगे। इस बार परेड में राजस्थान आर्म्स कान्टेविलरी की पुरुष टुकड़ी भी नजर आएगी।

यूपी होमगार्ड्स, एनसीसी ने भी मार्च पास्ट में दिखाई दिये। परेड में बुंदेलखंड का पारंपरिक राई लोकनृत्य आकर्षण का केंद्र बना रहा। वहीं गाजीपुर का धोबिया लोक नृत्य भी प्रस्तुत किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस नृत्य को देखकर खुश भी हुए और उन्होंने तालियां भी बजाईं।गंगा की निर्मलता और उसे साफ-सुधरा रखने का संदेश देता ‘नमामि गंगे’ गीत पर स्कूली बच्चों का मनमोहक नृत्य। तो ‘हम फिट तो इंडिया फिट’ गीत पर ड्रिल, ‘अतुल्य भारत’ और ‘प्लास्टिक हटाओ-पर्यावरण बचाओ’ विषय पर आधारित नृत्य ने शहरवासियों को अपना बना लिया। डेढ़ मिनट की प्रस्तुति में अपने विषय को बच्चों ने बड़ी खूबसूरती से रखा। इस बार विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने सरकार की उन योजनाओं को प्रस्तुत किया जो देशहित में हैं और सबके लिये फायदेमंद भी। विधानसभा के सामने स्कूली बच्चों की ओर से पेश किये जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों में इस बार पर्यावरण नृत्य भी शामिल था। पंजाबी लोकनृत्य ने लोगों को नाचने पर मजबूर किया तो भारत के शूरवीर और सौगंध मुझे इस धरती की ड्रिल ने देशभक्ति की अलख जगाई। यह नजारा लोग एकटक होकर देखते ही रह गये। 


परेड में अत्याधुनिक हथियारों से लैस एटीएस (एंडी टेररस्टि स्क्वायड) के कमांडों अलग ही नजर आ रहे थे। यह सबके लिये आकर्षण का केन्द्र बने रहे। महिला सुरक्षा 112 पीआरवी, घुड़सवार दल, श्वान दल, फायर सर्विस और एंबुलेंस भी परेड में शामिल रहीं।सेना,अर्द्धसैनिक बल, पुलिस, पीएसी, होमगार्ड, एनसीसी, सिविल डिफेंस, स्कूल, कालेजों के साथ बैंड वादकों की टोलियों ने एक साथ कदमताल करके सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। परेड विधानसभा के सामने से निकली तो इस शानदार नजारे को देखने वाले दर्शकों की तालियों से पूरा समा गूंज उठा।

शानदार, सुखद, गौरवपूर्ण और भव्य दृश्यों का परेड साक्षी बनी। देखने वालों की भीड़ ने इसका पूरा आनन्द उठाया। कदमताल कर बढ़ रहे सैनिकों और स्कूलों के बच्चों की फोटो खींचने वालों की होड़ भी लग गई।परेड पर्यावरण संरक्षण सहित सरकार की योजनाओं पर प्रकाश डालती हुई झांकियां निकली। सबसे पहले उत्तर प्रदेश सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की नए भारत का नया उत्तर प्रदेश की झांकी आई। फिर इग्नू की झांकी शिक्षा आपके द्वार थीम पर निकाली गई। एलडीए, गंगा सफाई अभियान, नगर विकास विभाग, कार्यालय मुख्य निर्वाचन अधिकारी, उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण उत्तर प्रदेश, अमीनाबाद इंटर कॉलेज, पुलिस मार्डन स्कूल गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश सिंधी अकादमी, लखनऊ पब्लिक स्कूल एंड कॉलेज, उत्तर प्रदेश भारत स्काउट और गाइड,  इरम एजूकेशनल सोसाइटी, उत्तर प्रदेश वन विभाग, उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान, सीएमएस, उत्तर प्रदेश वैकल्पिक ऊर्जा, उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन व उत्तर प्रदेश पर्यटन की झांकियां भी देखते ही बनीं।

Check Also

प्राकृतिक छटा पर जेसीबी मशीन का कहर

चकरनगर/इटावा। ऊंचे टीले और कंटीली झाड़ियों को संजोए रखने वाला चकरनगर बीहड़ क्षेत्र धीरे-धीरे प्राकृतिक …