Breaking News

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी में महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध पर जताई चिंता

लखनऊ ब्यूरो ( राज प्रताप सिंह ) : कांग्रेस महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी में महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध पर चिंता जताई है। यूपी के नेताओं के साथ उन्होंने महिलाओं की सुरक्षा तय करने के लिए सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति पर चर्चा की। वहीं उन्होंने 14 दिसम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली रैली की तैयारियों की समीक्षा भी की। 
शुक्रवार को अपने दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचीं प्रियंका गांधी 11.35 पर प्रदेश मुख्यालय पर पहुंची और डॉ. भीमराव अंबेडकर को पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद  बैठकों में व्यस्त हो गईं। 14 दिसम्बर को दिल्ली में होने वाली रैली की तैयारियों और महिला सुरक्षा उनके एजेण्डे पर रहे। 
रणनीति कमेटी के साथ उन्होंने बैठक की शुरुआत की। प्रदेश संगठन में बदलाव के बाद यह प्रियंका का पहला यूपी दौरा है। वीवीआईपी अतिथि गृह पहुंचने पर सुश्री गांधी का भव्य स्वागत किया गया। यहां से वह पूर्व केंद्रीय मंत्री शीला कौल की बेटी दीपा कौल के घर गईं और फिर सीधे कांग्रेस मुख्यालय आ गईं।  

पहली बैठक में उन्होंने यूपी की बिगड़ती कानून व्यवस्था और महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों पर चिंता जताई। बैठक में चर्चा की गई कि हैदराबाद जैसे हादसे मैनपुरी, उन्नाव, चित्रकूट आदि में रोज हो रहे हैं। अपने पदाधिकारियों के साथ उन्होंने रणनीति बनाई कि कैसे महिलाओं को सुरक्षा दी जाए, इसके लिए सरकार पर कैसे दबाव बनाया जाए। इस बैठक में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्र मोना, जितिन प्रसाद, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, राजीव शुक्ला, आरके चौधरी, प्रदीप जैन आदित्य, दीपक सिंह, बृज लाल खाबरी, इमरान मसूद समेत कई पदाधिकारी रहे।

बैठक में उन्होंने 14 तारीख को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली रैली की तैयारियों की भी समीक्षा की। कांग्रेस देश की अर्थव्यवस्था, घटती विकास दर, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, भुखमरी, किसान आत्महत्या, चौपट उद्योग धंधे, ऑटोमोबाइल सेक्टर में मंदी, आर्थिक मंदी आदि पर केन्द्र सरकार को घेरेगी। सबसे बड़ा राज्य होने के कारण यूपी पर भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी ज्यादा है। 
 2022 का चुनाव अकेले लड़ेगी कांग्रेस 
लखनऊ में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला ने बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रियंका गांधी पहले ही साफ कर चुकी हैं कि गठबंधन न करते हुए पार्टी का संगठन मजबूत किया जाएगा और कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ेगी। 2022 के चुनाव की तैयारियां चल रही हैं। ब्लॉक स्तर पर कमेटी का गठन होगा। एक साल के भीतर संगठन का ढांचा  तैयार हो जाएगा। बीच-बीच में आंदोलन होता रहेगा। कांग्रेस उत्तर प्रदेश के आम आदमी की आवाज बन कर मैदान में उतरेगी।

Check Also

भरेह थाने का देखो कमाल, हिस्ट्रीशीटर को थाने से वइज्जत वरी और साधारण को 4/25 की कार्यवाही मैं भेजा जेल

चकरनगर (इटावा), (डॉ. एस. बी. एस. चौहान) 15जुलाई। थाना भरेह के गांव हरौली बहादुरपुर में …