Breaking News

आपदा :: भारत में ‘फेनी’ ने दी दस्तक, पुरी तट से टकराया रात तक इन शहरों में भी प्रहार के आसार

डेस्क : ओडिशा के तट से शुक्रवार सुबह फेनी चक्रवात टकरा गया है. फेनी की वजह से तेज बारिश हो रही है और हवाएं चल रही हैं. इस समय पुरी और उसके आसपास के इलाकों में हवा की रफ्तार 200 किमी प्रति घंटे की हैं. राज्‍य सरकार ने ओडिशा में करीब 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा है. साथ ही अन्‍य लोगों से घरों पर ही रहने की सलाह दी गई है. ओडिशा के 17 जिलों में फेनी तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया गया है. साथ ही सभी स्‍कूल कॉलेज भी बंद कर दिए गए हैं.

रात तक इन शहरों में भी प्रहार के आसार

पश्चिम बंगाल के पूर्वी और पश्चिमी मेदिनीपुर, दक्षिणी और उत्तरी 24 परगना, हावड़ा, हुगली, झारग्राम एवं कोलकाता जिलों के साथ-साथ आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विजयनगरम और विशाखापत्तनम जिलों के भी इस तूफान से प्रभावित होने की आशंका है. ओडिशा में भुवनेश्वर, गजपति, केंद्रपारा और जगतपुर सिंह इलाके में भी तेज हवाएं चल रही हैं और बारिश हो रही है.


हैदराबाद स्थित मौसम विभाग के अनुसार पुरी में इस समय हवा की अधिकतम रफ्तार 240 किमी प्रति घंटा से 245 किमी प्रति घंटा के बीच है. साथ ही पूरे ओडिशा तट पर भारी बारिश हो रही है. फोनी के पूरी तरह से टकराने के बाद इसका असर कम होगा और यह पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों की ओर जाएगा. फोनी के गुजरने के बाद राहत और बचाव कार्य के लिए विशाखापत्‍तनम में नौसेना के 13 विमानों को अलर्ट पर रखा गया है.

ओडिशा में फोनी चक्रवात के पहुंचने का असर आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों पर भी दिख रहा है. यहां के विशाखापत्तनम में समुद्र तट पर तेज हवाएं चल रही हैं. साथ ही ऊंची समुद्री लहरें भी उठ रही हैं. फोनी तूफान के गुजरने के बाद के हालात से निपटने के लिए भारतीय तटरक्षक बल (कोस्‍ट गार्ड) ने राहत और बचाव की 34 टीमों को तैनात कर दिया है. ये टीमें विजाग, चेन्‍नई, पाराडिप, गोपालपुर, हल्दिया, फ्रेजरगंज और कोलकाता में तैनात की गई हैं. वहीं विजाग और चेन्‍नई में कोस्‍ट गार्ड की चार नावों को भी तैनात किया गया है.

भुवनेश्‍वर स्थित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के डायरेक्‍टर एचआर विश्‍वास के अनुसार के अनुसार फोनी चक्रवात के ओडिशा के तट से टकराने की प्रक्रिया सुबह 8 बजे शुरू हो गई थी. कुछ जमीनी इलाकों में भी इसकी दस्‍तक हुई है. इसके पूरी तरह से यहां टकराने में करीब 2 घंटे और लगेंगे. यह ओडिशा के पुरी के नजदीक टकराया है.

सुबह बताया गया था कि चक्रवात फोनी ओडिशा के तट से शुक्रवार सुबह टकरा सकता है. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार सुबह 5:30 बजे फोनी पुरी से 80 और गोपालपुर से 65 किलोमीटर दूर था. औसतन 40 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से फोनी एक कर्व लेता हुआ कोस्टल एरिया की तरफ घूम रहा था. 


फोनी रात तक ओडिशा के तटीय इलाकों में कहर बरपाएगा. फिर पश्चिम बंगाल की ओर चला जाएगा. पूरे ओडिशा कोस्टल एरिया में रात करीब 2 बजे से भारी बरसात हो रही है. तेज हवाएं चल रही हैं. फोनी के मद्देनजर राष्‍ट्रीय आपदा राहत दल (एनडीआरएफ) की 3 अतिरिक्‍त टीमों को तैनात किया गया है. ये टीमें भुवनेश्‍वर नगर पालिका के आयुक्‍त को रिपोर्ट करेंगी. ओडिशा में एनडीआरएफ की कुल 18 टीमें तैनात की गई हैं. इसके अतिरिक्‍त 10 टीमें और तैनात की गई हैं.

Check Also

जन्मदिन पर चित्रांश रविशंकर प्रसाद को मिशन टू करोड़ चित्रांश अंतर्राष्ट्रीय परिवार ने दी हार्दिक शुभकामनाएं व बधाई

डेस्क : आज कृष्ण लला के जन्माष्टमी शुभ अवसर है जिसमें रामलला को उनके जन्म …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *