Breaking News

प्रखंडों में टीएचआर वितरण में गड़बड़ी पाई गई तो नपेंगे बाल विकास परियोजना पदाधिकारी – डीएम दरभंगा

डेस्क : दरभंगा समाहरणालय अवस्थित अम्बेडकर सभागार में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में समेकित बाल विकास योजना के तहत आंगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से चलायी जा रही टी.एच.आर. वितरण, मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना, प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना सहित आंगनवाड़ी केन्द्रों की स्थिति एवं सेविका/सहायिकाओं का कोविड-19 टीकाकरण की समीक्षा की गयी।

बैठक में जिला प्रोगाम पदाधिकारी (समेकित बाल विकास परियोजना) श्रीमती रश्मि वर्मा ने बताया कि 95.38 प्रतिशत् सेविका/सहायिकाओं द्वारा कोविड-19 टीका का प्रथम डोज लिया जा चुका है तथा 93.35 प्रतिशत् द्वारा दूसरा डोज भी लिया जा चुका है। कोविड-19 से सुरक्षा व बचाव के लिए आंगनवाड़ी केन्द्रों को बंद रखा गया है, लेकिन गर्भवती एवं धातृ महिलाओं को टी.एच.आर. का वितरण घर-घर भ्रमण कर किया जा रहा है। टी.एच.आर. का वितरण टोकन के माध्यम से किया जा रहा है तथा सितंबर माह में जिले में कुल 02 लाख 05 हजार 799 टोकन का सृजन किया गया है।  

जिलाधिकारी ने कहा कि केयर इण्डिया द्वारा दरभंगा के सभी प्रखण्डों में कुछ आंगनबाड़ी केंद्रों के पोषण क्षेत्र में विगत 05 महीने में गर्भवती महिलाओं को टी.एच.आर.का वितरण का डोर-टू-डोर सर्वें कराया गया है और प्राप्त प्रतिवेदन के अनुसार वितरण की स्थिति अत्यधिक असंतोषजनक है। उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी प्रखण्डों में वरीय पदाधिकारियों की टीम बनाकर जांच करायी जाएगी और जिस दिन जांच होगी, उसी दिन जाँच हेतु पंचायत का रेन्डमली चयन किया जाएगा, टीएचआर वितरण में गड़बड़ी पाये जाने पर सीधे बाल विकास परियोजना पदाधिकारी जिम्मेवार माने जाएगें और उनके विरुद्ध  कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसी भी शिकायतें मिली हैं, कि कई सेविका राज्य से बाहर रहती है। जिला प्रोग्राम पदाधिकारी ने सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी सेविकाओं/सहायिकाओं का भौतिक सत्यापन करने को कहा और कहा कि यदि किसी सेविका के राज्य के बाहर रहने की जानकारी मिलती हैं, तो उसे चयन मुक्त करने की कार्रवाई की जाए। जिला प्रोग्राम पदाधिकारी ने बताया कि 03 से 06 साल के बीच के बच्चों को पौष्टिक लड्डू एवं पौष्टिक सत्तू का लड्डू का वितरण घर-घर भ्रमण कर किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के संबंध में बताया गया कि जिले में कुल 31 हजार 897 लाभार्थीं हैं, जिनमें से 29 हजार 688 की स्वीकृति मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि पोषण अभियान के दौरान शिविर लगाकर इस योजना के लिए आवेदन प्राप्त किया गया था। इसलिए इसमें अच्छी प्रगति हुई है। विभाग द्वारा प्रत्येक आंगनवाड़ी केन्द्र के लिए न्यूनतम 02 लाभार्थी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिलाधिकारी ने इसमें और तेजी लाने के निर्देश दिये।प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना के तहत जिले को 94 हजार 269 लाभार्थी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वर्तमान में अबतक 76 हजार 865 लाभार्थियों का पंजीकरण किया गया है। पोषण अभियान के तहत 03 लाख 84 हजार 146 लाभार्थी का लक्ष्य दिया गया था। लक्ष्य से अधिक 04 लाख 66 हजार 26 लाभार्थियों की प्रविष्टि पोषण ट्रेकर पर की गयी है। पोषण माह गतिविधि के तहत जिले में अबतक 02 लाख 03 हजार 881 लाभार्थियों की प्रविष्टि करायी गयी है।

बैठक में सहायक समाहर्त्ता अभिषेक पलासिया, सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं अन्य संबंधित पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Check Also

दरभंगा पहुंचे डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद, विभिन्न विभागों से जुड़े कार्यों की समीक्षा की

डेस्क : दरभंगा समाहरणालय अवस्थित अम्बेडकर सभागार में बिहार के डिप्टी सीएम सह अतिरिक्त प्रभार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *