पत्रकार के घर शोक की लहर

96

दरभंगा : जिले के शाहगंज बेंता निवासी विनय कुमार सिन्हा के युवा पुत्र एवं जाने माने वरिष्ठ पत्रकार विजय कुमार सिन्हा के प्रिय भतीजे सुमित गौरव उर्फ गुंजन का बीते 30 अगस्त रविवार को आकस्मिक निधन हो गया।

फाइल फोटो सुमित गौरव उर्फ गुंजन

उनके निधन की खबर फैलते ही परिजनों में शोक की लहर दौड़ गई। रिश्तेदारों के बीच यह अत्यंत दुःखद खबर पहुंचते ही सभी रिश्तेदार अवाक रह गये। परिजनों को सांत्वना देने वालों का तांता लग गया। उनके आकस्मिक निधन से हमारे समाज ने एक साहसिक और विनम्रता से भरा एक अद्भुत व्यक्ति खो दिया। उनको जानने वाले हर कोई ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त कर रहा है।

सुमित गौरव’गुंजन’ (फाइल फोटो)

विनय कुमार सिन्हा अपने दो पुत्रों के साथ पूरा परिवार दिल्ली में ही रह रहे थे। अपने जीवन में गुंजन कई उपलब्धियां हासिल करते हुए ऊंचाइयां छू रहे थे लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था। बीते गुरूवार की रात अचानक अपने ही घर में फिसल कर गिर जाने पर सिर में चोट लगने से सुमित गौरव उर्फ गुंजन बेहोश हो गए। आनन फानन में परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उनका बेहतर इलाज चल रहा था। जहां बीते रविवार के दिन अस्पताल में सुमित गौरव उर्फ गुंजन ने आखिरी सांस ली। वहीं डॉक्टरों ने गुंजन की मौत का कारण ब्रेन हेमरेज बताया।

उनके आकस्मिक निधन की खबर मिलते ही दिल्ली से दरभंगा तक उनके परिवार पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा। वे अपने पीछे पत्नी व एक दुधमुंही बच्ची छोड़ गए हैं। आज भी देर रात तक शोकाकुल विनय कुमार सिन्हा, विजय कुमार सिन्हा, सुशील भारती, अभिषेक कुमार, विशाल गौरव, सुजय, सुयश और अन्य परिजनों को सांत्वना देने वालों का तांता लगा हुआ रहा।