अब सभी 38 जिलों में डायलिसिस यूनिट की सुविधा होगी उपलब्ध

7

डेस्क : कोरोना संकटकाल में अब बिहार के सभी 38 जिलों में डायलिसिस यूनिट की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी. इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत लोक निजी साझेदारी के अंतर्गत राज्य के 19 जिलों में डायलिसिस इकाई की स्थापना एवं संचालन करने के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार द्वारा नेफ्रोकेयर हेल्थ सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, हैदराबाद के साथ एकरारनामा हस्ताक्षरित किया गया है. राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार, सहायक निदेशक मदन लाल गुप्ता, लोक निजी साझेदारी(पीपीपी) के उप सचिव प्रभारी रविश किशोर एवं नेफ्रोकेयर के मैनेजर बिज़नेस डेवलपमेंट निशांत कुमार सिंह की उपस्थिति में इस एकरारनामा पर हस्ताक्षर किया गया.

इन 19 जिलों के लिए एकरारनामा पर हुआ हस्ताक्षर:

राज्य के 19 जिलों में डायलिसिस यूनिट की स्थापना को लेकर एकरारनामा पर हस्ताक्षर हुआ है. जिसमें बेगूसराय, खगड़िया, मुंगेर, नवादा, बांका, भागलपुर, जमुई, लखीसराय, नालंदा, शेखपुरा, सारण, वैशाली, सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, शिवहर एवं सिवान जिला शामिल है.

• 19 जिलों में यूनिट की शुरुआत करने के लिए नेफ्रोकेयर हेल्थ सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के साथ किया गया करार
• प्रत्येक जिले में 5-5 डायलिसिस मशीन लागए जायेंगे
• शेष के 19 जिलों में यूनिट स्थापना को लेकर अपोलो डायलिसिस प्राइवेट लिमिटेड के साथ हो चुका है एकरारनामा पर हस्ताक्षर

प्रत्येक जिले में 5-5 डायलिसिस मशीन लगाए जायेंगे:

एकरारनामा हस्ताक्षरित होने के बाद नेफ्रोकेयर हेल्थ सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा प्रत्येक जिले में 5-5 डायलिसिस मशीनें लगायी जाएंगी. इससे आपातकालीन मरीजों को डायलिसिस सेवा प्राप्त करने के लिए जिले से बाहर जाने की नौबत नहीं आएगी.

शेष 19 जिलों में अपोलो डायलिसिस प्राइवेट लिमिटेड के साथ हो चुका है करार:

नए 19 जिलों में डायलिसिस यूनिट की स्थापना को लेकर एकरारनामा पर हस्ताक्षर के बाद अब पूरे राज्य में डायलिसिस की सुविधा बहाल हो चुकी है. इन नए जिलों को छोड़कर शेष के 19 जिलों में पूर्व में डायलिसिस इकाई की स्थापना को लेकर अपोलो डायलिसिस प्राइवेट लिमिटेड, हैदराबाद के साथ एकरारनामा पर हस्ताक्षर किया जा चुका है.