Breaking News

झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही से गई मजदूर की जान

लखनऊ (केशरी राव धारा) : राजधानी के काकोरी इलाके में एक बार फिर झोलाछाप डॉक्टर ने ले ली मजदूर की जान मामला काकोरी के बड़ा गांव का है जहां एक दलित कुंवर भारती पुत्र चुन्नीलाल अपने परिवार के साथ निवास करता था मंगलवार की रात अचानक उनकी तबीयत खराब हुई तो परिवार जनों ने पड़ोस के गांव में एक झोलाछाप डॉक्टर को दिखाकर दवा ले ली  रात्रि लगभग 3:00 बजे जब उसकी हालत ज्यादा खराब हो गई नजदीक के मोहान रोड एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया जहां पर डॉक्टरों ने बिना कुछ जांच-पड़ताल किए हुए मनीष कुमार भारती तीन बोतल ग्लूकोस की चढ़ाई व मेडिसिन दवाई बुधवार

दोपहर भाग जब भागती की तबीयत अधिक खराब हो गई तो परिवारीजन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र काकोरी लाये उसके बाद  निजी नर्सिंग होम थोड़ी दूर पर काकोरी मोड़ हनुमान मंदिर पर मरीज को लिटा दिया और 108 एम्बुलेंस सेवा  को फोन किया एंबुलेंस ड्राइवर पीड़ित को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  काकोरी लेकर पहुंची जहां पर डॉक्टरों ने हालत नाजुक देख कर ट्रामा सेंटर ले जाने की सलाह दी और पर्चा  बनाकर रिफर कर दिया जब परिवारी  कुँवर भारती को लेकर बाहर निकले तो उनकी  मौत  हो गई और इस बात को लेकर परिवारी जन वहां हंगामा करने लगे।अधीक्षक दीपक कुमार पांडे ने परिजनों  को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया।बताया जाता है कुँवर भारती की मौत हो गई ।

निजी नर्सिंग होम का संचालक डॉ वर्मा  भी मौजूद थे लेकिन कई मीडियाकर्मी वहां पर पहुंचे तो वर्मा वहाँ से भाग गए और परिजनों का आरोप है कि निजी नर्सिंग होम में दांत बंद होने को बताया कि मरीज का बीपी नहीं मिल पा रहा है जबकि मरीज पहले से टीवी का मरीज था लेकिन निजी नर्सिंग होम के संचालक एक डॉक्टरों ने बिना जांच-पड़ताल किए कई ग्लूकोस की बोतल चढ़ा दी सीएचसी काकोरी के अधीक्षक ने बताया की टीवी मरीज को बिना जाने मुझे ग्लूकोस की बोतल चढ़ाने की वजह से दिक्कत पैदा हुई जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई है।

Check Also

भरेह थाने का देखो कमाल, हिस्ट्रीशीटर को थाने से वइज्जत वरी और साधारण को 4/25 की कार्यवाही मैं भेजा जेल

चकरनगर (इटावा), (डॉ. एस. बी. एस. चौहान) 15जुलाई। थाना भरेह के गांव हरौली बहादुरपुर में …