Breaking News

बिहार पुलिस विशेष पारितोषिक वितरण समारोह का ऐतिहासिक आयोजन

डेस्क : सरदार पटेल भवन के सभागार में एक ऐतिहासिक कार्यक्रम हुआ. इस कार्यक्रम में पूरे राज्य के कई जिलों के कोने कोने से आए 316 पुलिसकर्मियों को मेरे द्वारा ,अपर मुख्य सचिव श्री आमिर सुबहानी जी और हमारे पुलिस परिवार के वरिष्ठ मित्रों द्वारा उनके अच्छे कार्यों के लिए सम्मानित किया गया. सम्मानित करने वालों में मेरे प्रिय मित्र और बैचमेट DG सुनील कुमार ,DG आलोक राज, DG एस॰के॰ सिंघल के अतिरिक्त ADG विनय कुमार,ADG जितेंद्र कुमार, ADG,भृगु श्रीनिवासन,ADG ए॰के॰ अम्बेडकर, ADG अमित कुमार, ADG कुंदन कृशनन ,ADG एस॰के॰ झा , ADG जितेंद्र गंगवार, आदि अधिकारी शामिल थे .

प्रायः लोग केवल पुलिस की बुराई करते देखे सुने जाते हैं लेकिन वे यह भूल जाते हैं कि हमारे सिपाही ,हवलदार ,थानेदार और अन्य पदाधिकारी कितनी कठिन परिस्थितियों में और कितने तनाव में रहकर काम करते हैं.इसका मतलब ये नहीं कि तनाव में रहने के कारण किसी ग़लत और ग़ैर क़ानूनी काम करनेवाले पुलिसकर्मी का हर अपराध माफ़ करने लायक़ होता है .ये तो हम ख़ुद भी नहीं करते .

हम ये मानते हैं कि ऐसा कोई काम जिस से पुलिस की छवि ख़राब होती हो ,क्षमा करने योग्य नहीं होता.अनुशासनहीनता भी क्षमा करने लायक़ नहीं होती .लेकिन पुलिस परिवार के मुखिया होने के कारण हम अपने इस परिवार के सदस्यों के दर्द को ,उनकी परेशानी को भी अच्छी तरह समझते हैं.इनके से कुछ ख़राब भी हो सकते हैं लेकिन सब वैसे नहीं होते.इन्ही की दिन रात की मिहनत पर ये व्यवस्था टिकी है. ये सिपाही,हवलदार,जमादार,दारोग़ा और थानेदार ही इस व्यवस्था की नीवं हैं.ये हैं तभी हम सबलोग हैं.ये लोग अगर एक दिन के लिए ना रहें तो हमलोग फिर कहाँ रहेंगे ,इसका अनुमान लगाना भी मुश्किल है .इसलिए इनके महत्व को और समाज में व्यवस्था बनाए रखने में इनकी भूमिका को हर जागरूक नागरिक को समझना चाहिए.हम अपने पुलिस परिवार के हर पंक्ति के हर पुलिसकर्मी और अधिकारी से अपील करते हैं कि वे अपने सारे आपसी भेद भाव भुला कर अपनी विनम्रता से,शील से,संस्कार से,व्यवहार से और सेवा से आम जनता का दिल जीतें.

हम बिहार की १२ करोड़ जनता से भी विनम्र भाव से अनुरोध करते हैं कि किसी स्थिति में क़ानून अपने हाथ में न लें और हमारे पुलिसकर्मियों का सहयोग करें,समर्थन करें,उनको अपना प्यार और आशीर्वाद दें.आईये हम सारे बिहारवासी और बिहार पुलिस परिवार के सदस्य साथ मिलकर सूबे को शराब मुक्त और अपराध मुक्त बनाने का संकल्प लें और सुशासन की सुगंध देश के कोने कोने तक पहुँचाएँ.

अच्छा काम जानेवाले हर पंक्ति के कुछ पुलिसकर्मियों को पुलिस परिवार के मुखिया की हैसियत से सम्मानित किया और अपने DG टीम के सहयोगियों से करवाया लेकिन ये सूची अंतिम नहीं.बहुत भारी संख्या में अभी पुलिसकर्मी हैं जिन्होंने अच्छा काम किया है .DG टीम ऐसे लोगों को चिन्हित करते रहेगी और सम्मान देने की ये परम्परा चालू रहेगी.

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने पुलिस को लेकर नकारात्मक छवि रखने वालों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि बिहार का सिपाही अमेरिका, इंग्लैंड-कनाडा के सिपाही से अच्छा है. वह अभाव, काम के दबाव में भी सत्तू पीकर, चूड़ा खाकर अपनी ड्यूटी करता है. सभी विभागों में आठ घंटे, वहीं पुलिस में 24 घंटे काम होता है. पुिलस को खराब बताने वाले भी हमारे कारण सुरक्षित हैं. पुिलसकर्मी अपरािधयों पर अर्जुन की आंख की तरह नजर रखें. राज्य में 5% अपराधी है, उसके सफाये को बिहार की 95 फीसदी शरीफ लोगों को भी आगे आना होगा.  सरदार पटेल भवन सभागार में रविवार को बिहार पुलिस विशेष पारितोषिक वितरण समारोह 2019 में थानेदार-दारोगा, हवलदार, सिपाही का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि डीजीपी कवच की तरह उनके साथ हैं. अच्छा काम करने वालों को सम्मानित करने के लिए हर तिमाही में समारोह होगा.  पुलिसकर्मी जनता का सम्मान करें. जनता को साथ लेकर अपराधियों के खिलाफ जंग करें. सभी को गुटबंदी से दूर रहकर विभाग विरोधी काम करने वालों को चिह्नित करने को भी कहा. समारोह में पटना की एसएसपी गरिमा मल्लिक और बाढ़ की एएसपी लिपि सिंह, दो वैज्ञािनक, एक िवशेष लोक अभियोजक समेत 313 को सम्मानित किया गया.  

नागरिक भी किये गये सम्मानित

एसीएस गृह आमिर सुबहानी व डीजीपी ने दो नागरिकों को भी सम्मानित किया. नागरिकों को 10 हजार की सम्मान राशि दी गयी. पटना में 1.70 लाख लूट कर भाग रहे बदमाशों का पीछा करने वाले सहपुर थाना निवासी श्रवण कुमार को सम्मानित किया गया. 

GHARSHA

इन्हें मिला सम्मान

सरदार पटेल भवन सभागार में बिहार पुलिस विशेष पारितोषिक वितरण समारोह 2019 में एसपी 13, एएसपी 8, डीएसपी 18, इंस्पेक्टर 39, सब-इंस्पेक्टर 89 व पुलिस ड्यूटी मीट में स्वर्ण पदक लेने वाले सिपाही राहुल कुमार को सम्मान िमला. 

Check Also

पटना ब्लास्ट :: इंडियन मुजाहिद्दीन के रियाज भटकल समेत 3 आतंकी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

डेस्क : 7 वर्ष पहले साल 2014 में बिहार की राजधानी पटना और बोधगया में …