Breaking News

महाकवि पं लालदास जयंती पर देर शाम तक काव्य व गायन की सागर में गोता लगाते रहे श्रोता

झंझारपुर मधुबनी/डॉ. संजीव शमा : मिथिला मैथिली के जाने – माने कवि डॉ शुभ कुमार वर्णवाल ने अपने काव्य गान से बीते रविवार को महाकवि पं.लालदास की 164वीं जयंती समारोह को गुलज़ार बना डाला । वहीं आकाशवाणी दरभंगा की लोक एवं सुगम संगीत गायिका कुमकुम झा ने महाकवि रचित रचना का गान कर समारोह में चार चांद लगा दिया । अनुमंडल क्षेत्र के नवानी गांव में ग्राम निर्माण परिषद खड़ौआ द्वारा महाकवि पं.लालदास की जयंती अवसर पर एकल काव्य पाठ सह एकल गायन का आयोजन किया गया था ।

महाकवि पं लालदास को समर्पित रचना सुनाते कवि डॉ शुभ कुमार वर्णवाल

जिसमें श्रोता देर शाम तक काव्य व गीत सागर में गोता लगाते रहे । मधुबनी से पधारे कवि डॉ वर्णवाल ने जहां महाकवि पंडित लालदास को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए अपनी रचना ‘पुण्य प्रांगण मिथिला भूमि, कर्ण कायस्थ कुलभूषण लाल; जनम लेल फाल्गुन कृष्ण तृतीया, सन् बारह सै तिरसठ साल’ के बाद महाकवि पं. लालदास जयन्ती समारोह शीर्षक से अपनी दूसरी रचना म- महाकवि पंडित लालदास,हा- हार गूंथल शब्द पुष्प अनमोल,क-कविवर रचित ग्रंथ अठारह,वि-विज्ञ हृदय मैथिली मृदु बोल सुनाकर उपस्थित श्रोतावृन्द का मन मोह लिया।

  • कवि डॉ शुभ के काव्य गान एवं गायिका कुमकुम झा के गाये महाकवि की रचना से गुलजार हुआ महफ़िल
  • महाकवि पं लालदास के 164वीं जयंती में देर शाम तक काव्य व गायन की सागर में गोता लगाते रहे श्रोता

इसके बाद कवि डॉ वर्णवाल ने ‘स्वर्ग सँ’ सुन्दर पावन भूमि मिथिला हमर महान यौ; धोती-कुर्ता-पाग-दोपटा सुन्दर अछि परिधान यौ’ के बाद बाढ़ि-सुखाड़क नैहर मिथिला’ एवं नशा मुक्त अभियान यौ ‘ रचना के माध्यम से समाज को संदेश देते हुये कार्यक्रम में छाये रहे । वहीं आकाशवाणी की गायिका कुमकुम झा ने अपने गायन की शुरुआत महाकवि पं.लालदास रचित लक्ष्मीगीतम ‘जय जय कमल निवासिनी कमले, कमलमुखी श्री करुणे’ से की । उन्होंने महाकवि रचित एक से बढ़कर एक भगवती गीत ‘जय जय कुलक गोसाउनि, पुरु मन भाउनी हे’, महेशवाणी ‘देखु देखु सजनी वर केँ विकट आँखि तीन भजनी’ को गाकर दर्शकों का मन मोह लिया ।

महाकवि पं लालदास की रचना का गायन प्रस्तुत करती हुई आकाशवाणी की गायिका श्रीमती कुमकुम झा

उन्होंने अपने गायन का समापन पं.लालदास रचित नचारी ‘चलु चलु सखिया गौरी केँ वर देखि जुड़ाउ अँखिया’ सुनाकर दर्शकों को भाव विभोर कर डाला । गायिका श्रीमति झा के साथ हारमोनियम पर पार्वती लक्ष्मी कन्या इंटरस्तरीय विद्यालय के संगीत प्राध्यापक डॉ संजीव शमा ने कुशल संगति प्रदान की वहीं संपूर्ण कार्यक्रम में तबला पर अजय कुमार दास ने साथ निभाया ।
परिषद के महामंत्री भागीरथ दास ने कहा कि महाकवि पं.लालदास के जन्म दिन के अवसर पर हर वर्ष यह आयोजन किया जाता है ।

उन्होंने बताया कि ग्रामीण परिवेश में इस तरह के कार्यक्रम का सफल आयोजन करना अपने आप में एक मिसाल की तरह है । मैं परिषद की ओर से कवि डॉ शुभ कुमार वर्णवाल आकाशवाणी की कुमकुम झा, प्राध्यापक डॉ संजीव शमा एवं अजय कुमार दास का आभार प्रकट करता हूँ एवं साधुवाद देता हूँ । इस मौके पर कवि डॉ शुभ एवं गायिका कुमकुम झा को समारोह की अध्यक्षता कर रहे अनुप कश्यप एवं महामंत्री श्री दास ने शॉल देकर सम्मानित किया।

मौके पर जयंती समारोह के मुख्य अतिथि अनुमंडल पदाधिकारी शैलेश कुमार चौधरी, अररिया ओपी थानाध्यक्ष जितेन्द्र साहनी,डॉ अनिल ठाकुर,डॉ महेंद्र नारायण राम, डॉ नरेश झा, डॉ जयानंद मिश्र,वरिष्ठ पत्रकार रतन रवि, महाकवि के प्रपौत्र राजेंद्र राजू, गीतकार शंभु सौरभ, पं.शिवकुमार मिश्र,कवि गौरीशंकर साह, नवानी पंचायत की मुखिया दुर्गा देवी, पिपरोलिया पंचायत की पूर्व मुखिया कल्पना दास, सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे ।

Check Also

ट्रक-टेंपो की टक्कर में गब्बर घायल

मधुबनी/झंझारपुर (संजीव शमा) : झंंझारपुर थाना क्षेत्र के चनौरगंज के समीप एनएच 57 पर शंकर …