Breaking News

STET :: परीक्षार्थियों का जूते-मौजे पहनकर परीक्षा केन्द्र में प्रवेश वर्जित

दरभंगा : डीएम डॉ. त्यागराजन एस.एम. ने कहा है कि बिहार राज्य परीक्षा समिति द्वारा 28 जनवरी 2020 को आयोजित माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटेट) तथा अगले माह में आयोजित किये जाने वाले इटरमीडिएट एवं मैट्रिक की परीक्षाओं को पूर्ण स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त सम्पन्न कराया जायेगा। इन परीक्षाओं में किसी भी स्तर पर थोड़ी भी गड़बड़ी या अनियमितता पाये जाने पर दोषी कर्मी अथवा परीक्षार्थी के विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई की जायेगी।


उन्होंने कहा कि अध्यक्ष, बिहार राज्य परीक्षा समिति का सख्त निदेश है कि परीक्षा आयोजन में पूरी कड़ाई बरती जाये। उन्होंने कहा कि सभी परीक्षार्थियों की बारीकी से शारीरिक जाँच करने के बाद ही परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति दी जायेगी।


जिलाधिकारी ने सभी केन्द्रों के केन्द्राधीक्षकों एवं वहाँ प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियों को विशेष सतर्कता बरतने को कहा है। उन्होंने कहा है कि परीक्षा केन्द्र के गेट पर सभी परीक्षार्थियों की अच्छी तरह से फ्रिस्किंग कराई जाये। महिला परीक्षार्थियों की फ्रिस्किंग घेरा बनाकर महिला दण्डाधिकारी/महिला कॉस्टेबल द्वारा ही किया जायेगा। परीक्षार्थियों के निर्धारित कक्ष में बैठ जाने के बाद वहाँ प्रतिनियुक्त वीक्षकों द्वारा भी सभी परीक्षार्थियों की पुनः बारीकी से शारीरिक जाँच की जायेगी। इन जाँच के बाद वीक्षक से एक प्रमाण पत्र लिया जायेगा कि किसी भी परीक्षार्थी के पास कोई भी अवांछित सामग्री नहीं है। उन्होंने ये बातें समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित परीक्षा तैयारी की समीक्षा बैठक में कहीं है।
उन्होंने कहा कि एसटेट परीक्षा में केन्द्रों के अंदर कोई भी व्यक्ति मोबाईल फोन लेकर नहीं प्रवेश करेंगे। इसमें केन्द्राधीक्षक, दण्डाधिकारी, वीक्षक, कर्मी सहित सभी परीक्षार्थी शामिल है। उन्होंने कहा कि सभी परीक्षा केन्द्रों पर बोर्ड द्वारा जैमर भी लगाया जायेगा। इसके साथ ही सभी कक्षों की सतत् वीडियोग्राफी भी कराई जायेगी। केन्द्राधीक्षकों को निदेश दिया गया कि प्रश्न पत्र दण्डाधिकारी के उपस्थिति में परीक्षा प्रारंभ होने के 10 मिनट पूर्व खोली जायेगी।


किसी भी परीक्षार्थी को जूते-मौजे पहनकर परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करने की अनुमति नही होगी। निदेश दिया गया है कि कक्षों में सीटिंग प्लान बोर्ड के निदेशानुसार ही किया जायेगा। किसी भी हालत में एक बेंच पर दो से अधिक परीक्षार्थी नहीं रहे। सभी कक्षों में पर्याप्त रोशनी रहे। सभी कमरों के खिड़की-किवाड़ दुरूस्त हो। परीक्षा केनद्र में चहारदीवारी कही से भी टूटी न हो।
बैठक में उपस्थित वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने कहा कि सभी परीक्षा केन्द्र पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। सभी पुलिस पदाधिकारी/कर्मी ड्यूटी पर पूर्ण मुस्तैद रहें। बाहर से परीक्षार्थियों के भारी संख्या में शहर में आने/जाने के समय विधि-व्यवस्था का संधारण मजबूती से करें। यातायात के साधन कहीं भी बाधित नही हो ताकि अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न न हो।
उन्होंने कहा कि भीड़-भाड़ के समय अपराधी तत्व गड़बड़ी फैलाने की कोशिश कर सकते है। इसलिए सभी पुलिस पदाधिकारियों को रेलवे स्टेशन/बस अड्डा, होटल एवं अन्य आवासीय स्थलों की औचक जाँच करने को कहा गया है।
सभी अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी को निदेश दिया गया है कि नीचे स्तर के पदाधिकारी एवं पुलिस बलों को भी विधि-व्यवस्था संधारण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए निदेशों से अवगत करा दिया जाये।
उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्र में किसी परीक्षार्थी के नकल करते हुए पाये जाने अथवा मोबाईल एवं अन्य कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण पाये जाने पर उक्त परीक्षार्थी को तुरंत गिरफ्तार कर जेल भेजा जाये। कहा कि संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों को चिन्ह्ति कर वहाँ विशेष सतर्कता बरती जाये।
जिला शिक्षा पदाधिकारी, दरभंगा द्वारा बताया गया कि एसटेट की परीक्षा 28 जनवरी को 08 केन्द्रों पर होगी। इसमें बी.के.डी. बालक उच्च विद्यालय (जिला स्कूल), दरभंगा, मारवाड़ी उच्च विद्यालय, दरभंगा, आर.एन.एम. बालिका उच्च विद्यालय, लहेरियासराय, मारवाड़ी महाविद्यालय, दरभंगा, देशरत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद बालिका उच्च विद्यालय, दरभंगा, सी.एम. कॉलेज, दरभंगा, राज उच्च विद्यालय, दरभंगा एवं आर.बी. जालान महाविद्यालय, दरभंगा के नाम शामिल है।
इस बैठक में अपर समाहर्त्ता विभूति रंजन चौधरी, उप विकास आयुक्त डॉ. कारी प्रसाद महतो एवं अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी, सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, सभी भूमि सुधार उप समाहर्त्ता, सभी केन्द्राधीक्षक आदि उपस्थित थे।

Check Also

दरभंगा कमिश्नर के सचिव दुर्गानंद झा का विदाई समारोह, भेजे गए राज्य विवि सेवा आयोग

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : आयुक्त कार्यालय,दरभंगा के सभागार में आयुक्त के सचिव …