Breaking News

शर्मनाक :: सरेराह लड़कियों के फाड़ें कपड़े, 3 छात्राओं से 2 मनचलों ने की छेड़खानी व मारपीट

डेस्क : मधुबनी जिले से एक शर्मनाक घटना प्रकाश में आया है। घटना जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र के एक गांव की है जहां, एक मंदिर से पूजा कर लौट रही तीन छात्राओं के साथ छेड़खानी व मारपीट किये जाने का मामला सामने आया है. जिसको लेकर तीनों छात्राओं ने हरलाखी थाना पहुंच शिकायत किया.जहां पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

छात्राओं ने कहा कि, बीते सोमवार को घर से कल्याणेश्वर स्थान पूजा करने गई थी. जहां बगल के गांव के कुछ मनचलों ने छेड़खानी शुरू कर दिया. मनचलों के डर से हम लड़कियां मंदिर में जल्दी-जल्दी पूजा कर टेम्पू पकड़कर घर की ओर निकल गए. जहां रास्ते में करुणा चौक पर करुणा गांव के ही मो. इलियास कबाड़ी का पुत्र असरफ कबाड़ी व फेकन धुनिया का पुत्र वसिम धुनिया ने घेर कर जबरन छेड़खानी व मारपीट किया.जहां, हमलोगों का कपड़ा भी फार दिया और गले में जो जेवरात व आभूषण पहने थे, उसे भी छीन लिया. इसके बाद किसी तरह जान बचाकर हमलोग हरलाखी थाना गए. थाना में शिकायत दर्ज कराने के बाद घर जाकर परिजन को सारी बात बताई. पिता जी घर पर नहीं थे, इसलिए हमें घर से बाहर निकलने में डर लग रहा है, क्योंकि वो लोग हमारे साथ कुछ भी कर सकते हैं.

बताते चलें कि पीड़ित छात्राओं ने यह भी बताया कि जब हमलोग कोचिंग पढ़ने जाते हैं और कई दिनों से रास्ते में वे छेड़खानी करते हैं. इसके साथ ही छात्राओं ने अभद्र भाषा का प्रयोग भी करने का आरोप लगाया है. लड़कियों ने पुलिस से न्याय व सुरक्षा की मांग की है.

Madhubani Girls

बहरहाल पुलिस मामले की जांच की बात बता रही है. उधर समाजसेवी दीपशिखा सिंह, बिट्टू कुमारी मिश्रा, गुड़िया साह व जाप नेत्री प्रिया राज समेत सामाजिक संगठन के लोग पुलिस पर दबाब बनाना शुरू कर दिया है. इनलोगों ने कहा कि, बेटियों को सुरक्षित रखना हम सब की जिम्मेदारी होनी चाहिए और ऐसे समाज में घिनौने काम करने वालो लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. वहीं जब इस बावत में थानाध्यक्ष प्रेमलाल पासवान से पूछा गया तो उन्होंने ऑफ द रेकॉर्ड बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है. जांचोपरांत उचित कार्रवाई की जाएगी.

Check Also

मधुबनी रांटी की चंदना दत्त को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार, शिक्षक दिवस को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे पुरस्कृत

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की स्पेशल रिपोर्ट : राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2021 समारोह 5 सितंबर 2021 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *