Breaking News

भ्रष्ट थानाध्यक्षों पर सीएम योगी सख्त, तत्काल हटाने के दिए निर्देश, कार्यप्रणाली पर जताया असंतोष

राज प्रताप सिंह लखनऊ ब्यूरो : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्ट थानाध्यक्षों को चिह्नित कर उन्हें तत्काल हटाने के निर्देश दिए हैं। एक ही थाने में लंबे समय से तैनात पुलिस कर्मियों को उन्होंने तुरंत स्थानांतरित करने के भी निर्देश दिए हैं। सीएम ने शौचालय निर्माण में ओवर रिपोर्टिंग करने वाले डीएम को कारण बताओ नोटिस देने और दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर बर्खास्त करने को कहा है। 
सीएम योगी लोक भवन में आईजीआरएस, सीएम हेल्पलाइन व पीजी पोर्टल पर ग्राम्य विकास, राजस्व एवं आपदा, खाद्य एवं रसद, नगर विकास, गृह एवं गोपन तथा पंचायतीराज विभाग से जुड़ी शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा कर रहे थे।


सीएम ने डीजीपी ओपी सिंह को निचले स्तर तक पुलिस की कार्यप्रणाली की समीक्षा करने, अभियोजन की कार्रवाई तेज करने और जघन्य अपराधों में जवाबदेही तय करने के निर्देश दिए। आईजीआरएस पोर्टल पर गृह एवं गोपन विभाग की समीक्षा करते हुए सीएम ने आईजी और कप्तानों को हिदायत दी कि अपराधी जेलों से अपनी गतिविधियां संचालित न करने पाएं, यह सुनिश्चित करें। उन्होंने पेशेवर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने प्रयागराज, मुरादाबाद, अलीगढ़, लखनऊ तथा चित्रकूट मंडल में समस्या समाधान पर असंतोष जताया। महोबा, प्रतापगढ़, खीरी, श्रावस्ती और कानपुर देहात की स्थिति पर भी नाराजगी जाहिर की। सीएम ने संबंधित जिलों के पुलिस कप्तानों को तत्काल स्थिति सुधारने के निर्देश दिए।
ग्राम्य विकास विभाग से जुड़ी शिकायतों में मेरठ, वाराणसी, आजमगढ़, गोरखपुर और मुरादाबाद मंडल और बस्ती, संभल,  मैनपुरी, कौशांबी व ललितपुर जिलों का कार्य असंतोषजनक पाया गया। मुख्यमंत्री ने संबंधित सीडीओ को चेतावनी देते हुए कहा कि समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।
राजस्व एवं आपदा विभाग से जुड़ी शिकायतों के समाधान में सहारनपुर, प्रयागराज, कानपुर, गोरखपुर तथा अयोध्या मंडल का कार्य असंतोषजनक पाया गया। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को जिलों में राजस्व विभाग के सभी अधिकारियों की उपस्थिति का निरीक्षण कराने तथा उनकी कार्यप्रणाली की जांच के निर्देश दिए। सीएम ने मंडलायक्तों को निर्देश दिए कि वे जिलों की समस्या का त्वरित समाधान करें और जिलों का निरीक्षण भी करें।
प्लास्टिक की बिक्री व उत्पादन तत्काल रोकें
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्लास्टिक पर प्रतिबंध के आदेश को प्रभावी रूप से लागू कराएं। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन की सफलता के लिए प्लास्टिक व थर्माकोल को पूरी तरह से बैन करने को कहा।
उन्होंने अफसरों को प्लास्टिक की बिक्री, उत्पादन पर प्रभावी रोक लगाने को कहा। नगर विकास से जुड़ी शिकायतों के समाधान में देवीपाटन, कानपुर, आजमगढ़, बरेली तथा वाराणसी मंडल और बिजनौर, गाजीपुर, सीतापुर, गोंडा तथा मेरठ जिले का कार्य असंतोषजनक पाया गया। मुख्यमंत्री इन विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों को जनसमस्याओं के प्रभावी निस्तारण के लिए सिस्टम बनाने को कहा। 
ई-पॉस मशीन खराबी की जांच कराएं
सीएम ने ई-पॉस मशीनों के सिम में खराबी की शिकायत पर नाराजगी जताई। उन्होंने ऐसे प्रकरणों की गहन जांच कर दोषियों के खिलाफ  कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने वाराणसी, प्रयागराज, अयोध्या, लखनऊ तथा मुरादाबाद मंडल में कार्य असंतोषजनक मिलने पर क्षेत्रीय खाद्य अधिकारियों को स्थिति में सुधार लाने की चेतावनी दी। मुख्यमंत्री ने झांसी, मथुरा, बाराबंकी, लखनऊ तथा ललितपुर के जिला पूर्ति अधिकारियों को भी स्थिति सुधारने की हिदायत दी।

(फेसबुक पर  Swarnim Times स्वर्णिम टाईम्स लिख कर आप हमारे फेसबुक पेज को सर्च कर लाइक कर सकते हैं।  TWITER  पर फाॅलों करें। वीडियो के लिए  YOUTUBE चैनल को SUBSCRIBE करें)

Check Also

प्राकृतिक छटा पर जेसीबी मशीन का कहर

चकरनगर/इटावा। ऊंचे टीले और कंटीली झाड़ियों को संजोए रखने वाला चकरनगर बीहड़ क्षेत्र धीरे-धीरे प्राकृतिक …