COVID-19 :: रहें सतर्क करें जागरूक, रखें ये विशेष ध्यान – डॉ अमरेश

0
2

डेस्क : कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान सभी व्यक्तियों को अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना चाहिए. इस दौरान गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों के साथ-साथ बुजुर्गों का विशेष देखभाल करनी चाहिए. होम्योपैथिक चिकित्सक डॉक्टर अमरेश कुमार ने बताया कि कोरोना में संक्रमण बहुत तेजी से फैलता है. इसलिए विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है.

  • गर्भवती महिलाएं दिन में एक बार तुलसी का काढ़ा पीकर बढ़ाएं अपना इम्यूनिटी सिस्टम
  • बाजार से सब्जी लाने घर मे 12 से 14 घंटे उसको रखें अलग
  • सर्दी व खांसी से पीड़ित सदस्य घर में रहे अलग

संक्रमण के फैलाव को कम करने के लिए लोगों को सरकार के द्वारा लागू किये गए लॉक डाउन एवं सोशल डिस्टेंसिंग का शत-प्रतिशत पालन करना चाहिए। इसके अलावा लोगों को अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए. डॉ कुमार ने बताया कि अतिआवश्यक होने पर ही घर से निकलें। घर वापस आने पर पर व्यक्ति को स्नान कर लेना चाहिए. ऐसा नहीं करने की स्थिति में अपने कपड़े को धूप में दे दें। वहीं अपने हाथ, चेहरा एवं शरीर को अच्छी तरह धो ले. उसके पश्चात ही घर में प्रवेश करें.

डॉ अमरेश कुमार

डॉ कुमार का कहना है कोई भी चीज बाजार से खरीद कर लाने के बाद उसे घर में 12 से 14 घंटा अलग रख देना चाहिए. उसके पश्चात गर्म पानी से धोकर ही उसका प्रयोग करना ठीक होगा. डॉ कुमार ने यह भी बताया कि अगर किसी भी घर के सदस्य को सर्दी खांसी व सांस लेने में दिक्कत होती है तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए. इस दौरान उनको घर के अन्य सदस्यों से दूरी बनाकर रखना चाहिए. डॉ कुमार ने यह भी बताया कि मौसम परिवर्तन होने के कारण लोग सर्दी खांसी से पीड़ित हो रहे हैं इसका मतलब यह नहीं कि उन्होंने कोरोना हो गया है. मौसम में बदलाव से अक्सर लोगों में सर्दी खांसी कि शिकायत हो जाती है. चिकित्सीय सलाह से वह ठीक हो सकते हैं।

तुलसी का काढ़ा पीने से बढ़ता है रोग प्रतिरोधक क्षमता
होम्योपैथिक चिकित्सक डॉक्टर अमरेश कुमार का कहना है कोरोना वायरस व्यक्ति के स्वसन तंत्र प्रभावित करता है. इसलिए संक्रमण के इस समय में गर्भवती महिलाओं को अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना चाहिए दिन में एक बार तुलसी का काढ़ा पीना चाहिए. इससे उनके रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होगी बताया कि एक कप पानी में चार-पांच पत्ता तुलसी का, दो तीन काला मिर्च, अदरक व काला नमक डालकर बनाया गया काढ़ा सेवन करना गर्भवती महिलाओं के लिए रामबाण साबित होगा. गर्भवती महिलाओं को दिन में इसका एक बार सेवन करना चाहिए. इसके अलावा गरम पानी पीना भी हितकर होगा. खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए. रोजाना शाक सब्जी, दूध एवं अन्य पौष्टिक भोजन का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए बेहतर होगा.

नवजात का रखें विशेष ख्याल
कोरोना द्वारा संक्रमण के मद्देनजर किसी भी घर में नवजात पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है. क्योंकि नवजात को संक्रमण का खतरा सबसे अधिक होता है. इसलिए घर के सदस्यों को उस पर सबसे अधिक ध्यान देना चाहिए. खासकर मां को स्वच्छता पर विशेष ध्यान देकर अपने बच्चों को स्तनपान करना चाहिए. अन्य बच्चों के पोषण पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए. बच्चों के उम्र को देखते हुए उसको पौष्टिक भोजन देना अनिवार्य है, ताकि बच्चों को संक्रमण से बचाया जा सके. इस समय नवजात को घर से बाहर ले जाना खतरनाक साबित हो सकता है।


घर में बुजुर्गों को ना भूलें
डॉक्टर अमरेश कुमार ने लोगों को बुजुर्ग सदस्यों का विशेष ख्याल करने पर बल दिया उन्होंने कहा कि संक्रमण के कारण किसी भी सदस्य को बाहर नहीं निकलना चाहिए इस समय बुजुर्ग को अपने खानपान पर ध्यान देना चाहिए खासकर डायबिटीज ब्लड शुगर हृदय रोग स्वसन रोग से पीड़ित समय से दवा लेना अनिवार्य है. उनको घर पर ही प्राणायाम, समय से दवा लेनी चाहिए साथ ही दिन में एक बार तुलसी का काढ़ा पीने से फायदा मिलेगा. तुलसी का काढ़ा सामान्य एवं स्वस्थ आदमी के लिए भी फायदेमंद है इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है.