Breaking News

अपने उद्धारक का बाट जोह रहा परसाधाम।

परसाधाम सूर्य मंदिर को अब तक नहीं मिला पर्यटन स्थल का दर्जा

झंझारपुर मधुबनी(डॉ.संजीव शमा): अनुमंडल क्षेत्र के परसा पंचायत स्थित परसाधाम सूर्य मंदिर आज भी अपने उद्धारक का बाट जोह रहा है । बताते चलें कि ईस्ट- वेस्ट काॅरीडोर एनएच सतावन के निकट परसाधाम गांव में अवस्थित सूर्य मन्दिर को अब तक पर्यटन स्थल का दर्जा बिहार सरकार द्वारा नहीं दिया जा सका है। जिससे क्षेत्र के आम जनों में घोर निराशा है।

मधुबनी के तत्कालीन डीएम गिरिवर दयाल सिंह ने आज से तीन वर्ष पूर्व वर्ष 2016 में बिहार सरकार के पास परसाधाम को पर्यटन स्थल का दर्जा देने का प्रस्ताव भेजा था। पर्यटन विभाग के उदासीन रवैये के कारण भेजे गए प्रस्ताव पर अब तक कोई अमल नहीं हो सका है । हालांकि विगत वर्ष 2011 से बिहार सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा यहां प्रति वर्ष मार्तण्ड महोत्सव का नाम देकर आयोजन का खानापूर्ति किया जाता है।

विदित हो कि इसकी शुरुआत बिहार सरकार के तत्कालीन ग्रामीण विकास मंत्री एवं झंझारपुर के विधायक नीतीश मिश्र के अथक प्रयास के बाद हुई थी। सूर्य मंदिर के कार्यकारिणी समिति के सदस्य प्रो.विभूति प्रसाद सिंह ने बताया कि वर्ष 2018 में मार्तण्ड महोत्सव के दौरान बिहार सरकार के मंत्री प्रेम कुमार ने यहां पर सौंदर्यीकरण एवं एक गेट निर्माण की बात कही थी।

जिस पर आज तक विभाग द्वारा कोई अमल नहीं हो सका है। सूर्य मंदिर के पुजारी श्याम मिश्र, कमिटी के अध्यक्ष भुवनेश्वर मंडल, कोषाध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह, परसा पंचायत के मुखिया गंगाराम साह,पूर्व मुखिया सत्यनारायण मंडल, शत्रुघ्न प्रसाद सिंह, पूर्व पंसस दानीलाल साह, सामाजिक कार्यकर्ता गौतम झा आदि ने बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री संजय झा से अविलंब परसाधाम को पर्यटन स्थल बनाने की दिशा में पहल करने की मांग की है।

Check Also

ट्रक-टेंपो की टक्कर में गब्बर घायल

मधुबनी/झंझारपुर (संजीव शमा) : झंंझारपुर थाना क्षेत्र के चनौरगंज के समीप एनएच 57 पर शंकर …