Breaking News

यूपी विधानसभा : प्रश्नकाल शुरू होने से पहले ही हंगामा, सदन स्थगित करना पड़ा

राज प्रताप सिंह (लखनऊ ब्यूरो) :: उत्तर प्रदेश विधानसभा में शुक्रवार को खूब हंगामा हुआ। सत्ता पक्ष व विपक्ष के बीच तीखी नोकझोंक हुई और सदन की कार्यवाही दो बार रोकनी पड़ी। 
11 बजे सदन शुरू होते ही सपा ने खराब कानून-व्यवस्था का मुद्दा उठाना चाहा जबकि कांग्रेस नेता आराधना मिश्रा और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू लखनऊ कचहरी में देशी बम से वकील पर हमले पर चर्चा की मांग करते हुए वेल में आ गए। 
विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने उत्तेजित सदस्यों से बैठने का इशारा करते हुए कहा पहले प्रश्नकाल हो जाने दें। यह मुद्दे बाद में उठा लीजिएगा। पर हंगामा बढ़ने  लगा। इस पर अध्यक्ष ने कहा कि प्रश्नोत्तर काल का समय बाधित करना वरिष्ठ सदस्यों को शोभा नहीं देता है। वह विधानसभा के सदन को चौराहा नहीं बनने देंगे। नेता विपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि महिलाओं पर अत्याचार की बात नहीं सुनी जा रही है। विधानसभा अध्यक्ष इन मुद्दों को उठाने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। इसलिए उनके दल के सदस्य सदन से वाकआउट करते हैं। 
बसपा नेता लालजी वर्मा ने कहा कि जिस प्रकार से ब्रिटिश हुकूमत में जलियावाला बाग कांड हुआ था, वैसे ही यह सरकार शांतिप्रिय आंदोलनकारियों पर अत्याचार कर रही है। उनके कंबल छीने जा रहे हैं, उनको जेल में भेजा जा रहा है। इसके बाद बसपा सदस्य भी वाकआउट कर गए। 
सपा के मुकाबले कानून-व्यवस्था हजार गुना बेहतरशोरशराबे के बीच संसदीय कार्य मंत्री खन्ना ने कहा कि सपा हमेशा अपराधियों का साथ देती है। प्रदेश में कानून-व्यवस्था व्यवस्था सपा के कार्यकाल के मुकाबले हजार गुना अच्छी है। सदन व्यवस्थित न होते देख कर अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 20 मिनट के लिए स्थगित कर दी। शून्य काल में भी विपक्ष के हंगामे के कारण  सदन बाधित हुआ और कार्यवाही  स्थगित करनी पड़ी।

Check Also

कोरोना से बचाव के लिए सीएम योगी की धर्म गुरुओं से अपील, कहीं एकत्रित न होने दें भीड़

राज प्रताप सिंह, लखनऊ ब्यूरो। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को धर्म गुरुओं के साथ …