Breaking News

अलर्ट :: अगले 48 घंटे और जारी रहेगी बारिश, 3 अक्टूबर के बाद सामान्य होगी स्थिति

डेस्क : बिहार में 12 स्थानों पर शुक्रवार की सुबह साढ़े आठ बजे से शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक 100 मिलीमीटर से अधिक वर्षा हुई है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बारिश से उत्पन्न स्थिति की जानकारी प्राप्त की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने पूर्वानुमान जताया कि बिहार के अधिकतर इलाकों में अगले 48 घंटे तक मध्यम से भारी बारिश होगी और स्थिति तीन अक्टूबर के बाद सामान्य होगी.

राजधानी के सरदार पटेल भवन में आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा शनिवार को आयोजित एक बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों से स्थिति की जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिये. भारतीय मौसम विज्ञान के पटना स्थित कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कल सुबह 8.30 बजे से आज सुबह 8.30 बजे तक वैशाली जिला के जन्दाहा में 230.2 मिलीमीटर, नवादा जिला के रजौली में 222.4 मिलीमीटर, समस्तीपुर जिला के रोसडा में 175.0 मिलीमीटर, गया जिला के टेकारी में 170.2 मिलीमीटर, वैशाली जिला के गोरौल में 158.2 मिलीमीटर, भागलपुर शहर में 134.3 मिलीमीटर, सुपौल जिला के बसुवा में 132.4 मिलीमीटर, पटना जिला के श्रीपालपुर में 123.2 मिलीमीटर, भागलपुर जिला के बिहपुर में 115.4 मिलीमीटर, नवादा जिला के हिसुआ में 110.0 मिलीमीटर, बेगुसराय जिला के खोदावनपुर में 106.4 मिलीमीटर और भागलपुर जिला के सबौर में 102.2 वर्षा रिकार्ड की गयी. 

इस अवधि के दौरान पटना शहर में 98.0 मिलीमीटर, बक्सर शहर में 92.6 मिलीमीटर, जहानबाद जिला के मखदूमपुर में 91.2 मिलीमीटर और मुजफ्फरपुर जिला के सरैया में 90.4 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गयी । पटना, गया, भागलपुर और पूर्णिया में आज सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक क्रमश: 60.1 मिलीमीटर, 63.6 मिलीमीटर, 24.1 मिलीमीटर और 25.4 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड की गयी. 

भारतीय मौसम विज्ञान के प्रतिनिधि ने अगले 48 घंटे के पूर्वानुमान में बताया कि मध्य बिहार, पूर्वी बिहार, उत्तर पूर्वी बिहार एवं दक्षिण पूर्वी बिहार में वर्षा की स्थिति बनी रहेगी. उसके बाद स्थिति में सुधार होगा और तीन अक्टूबर तक स्थिति सामान्य हो जायेगी. बैठक में मौजूद आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने भी मुख्यमंत्री को पूरी स्थिति से अवगत कराया और आपदा प्रबंधन की जानकारी दी. 

मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को 15 अक्टूबर तक विशेष सतर्कता बनाये रखने के निर्देश दिये. बिहार में भारी बारिश के कारण आम जनजीवन के अस्त-व्यस्त होने के साथ प्रदेश की राजधानी पटना में कई इलाके जलमग्न हो गये हैं.

पटना शहर स्थित उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के निजी मकान, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूड़ी और राजद विधायक एजिया यादव के आवास तथा नालंदा मेडिकल कालेज अस्पताल सहित शहर के कई अन्य इलाके जलमग्न हो गये हैं.

Check Also

नीतीश के तीर से कटकर चिराग के बंगले में आए कई जदयू नेता, ली सदस्यता

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की रिपोर्ट : लोजपा (चिराग) के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह जमुई सांसद चिराग …