Breaking News

फनकार – ए – आज़म थे ट्रेजडी किंग अभिनेता दिलीप कुमार : डॉ संजीव शमा

दिलीप कुमार के निधन से चाहनेवालों में शोक, फैन्स ने दी श्रद्धांजलि

झंझारपुर (डॉ संजीव शमा) हिंदुस्तानी फ़िल्म के सदाबहार अभिनेता ट्रेजडी किंग के नाम से मशहूर दिलीप कुमार के निधन के समाचार से उनके चाहनेवालों के बीच शोक की लहर दौड़ गई है । दिग्गज फिल्म अभिनेता दिलीप कुमार का 98 वर्ष के थे और लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे । संगीत प्राध्यापक डॉ संजीव शमा ने अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि अभिनेता दिलीप कुमार का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में सबसे ज्यादा सम्मान पाने वाले भारतीय अभिनेता के तौर पर दर्ज है ।वे भारतीय सिनेमा जगत के ट्रेजडी किंग और पहले खान सुपरस्टार के रूप में पहचाने जाते हैं । 1944 में फिल्‍म ‘ज्वार भाटा’ से अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले दिलीप कुमार का बचपन का नाम मो.यूसुफ खान था ।

वह अपने समय में रोमांस के बादशाह थे । संगीतज्ञ डॉ शमा ने कहा कि मेला, शहीद, अंदाज, आन, देवदास, नया दौर, मधुमती, यहूदी, पैगाम, मुगल ए आजम, गंगा जमुना, लीडर तथा राम और श्याम जैसी फिल्मों के सलोने नायक दिलीप कुमार स्वतंत्र भारत के पहले दो दशकों में लाखों युवा दर्शकों के दिलों की धड़कन बन गए थे । डॉ शमा ने कहा कि वे पच्चीस वर्ष की उम्र में देश के नम्बर वन अभिनेता के रूप में स्थापित हो गए थे । अभिनेता दिलीप कुमार ने 44 साल की उम्र में 22 वर्षीया अभिनेत्री सायरा बानो से विवाह के बंधन में जुड़े थे । संगीत प्राध्यापक डॉ शमा ने बताया कि दिलीप कुमार को वर्ष 1991 में पद्मभूषण, 1955 में फ़िल्म का सर्वोच्च राष्ट्रीय सम्मान दादा साहेब फाल्के पुरस्कार, पाकिस्तान सरकार ने वर्ष 1997 में देश का सर्वोच्च सम्मान ‘निशान ए इम्तियाज़’ से नवाजा था । अभिनेता दिलीप कुमार को फ़िल्म फेयर के साथ ही आजाद, देवदास, नया दौर, कोहिनूर, लीडर एवं राम और श्याम के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला था ।

इसके अलावा भी उन्हें अन्य कई सम्मानों से सम्मानित किया गया था ।1998 में फिल्म ‘किला’ में वे आखिरी बार दिखे थे । डॉ शमा ने कहा कि ‘मौत उन्हें कहीं ले जा नहीं सकती और चाहने वालों की याद उन्हें कहीं जाने नहीं देगी… वो ‘मुगल-ए-आजम’ का बगावती अंदाज… ‘सलीम’ का अमर किरदार… आप कहीं नहीं जा सकते दिलीप साहब।’ भीडीएसएच संगीत महाविद्यालय की निदेशिका अनु अंजना ने अभिनेता दिलीप कुमार के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ‘भारतीय सिनेमा जगत के पुरोधा, अभिनय सम्राट, असंख्य कलाकारों के प्रेरणास्रोत दिलीप कुमार का निधन फिल्म जगत की अपूरणीय क्षति है । फिल्म जगत में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए सदैव उन्हें याद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि ‘अभिनय जगत में एक युग का अंत हो गया ।

फाइल फोटो : दिवंगत अभिनेता दिलीप कुमार

अपनी अदाकारी से फिल्म जगत में अमिट छाप छोड़ने वाले दिलीप कुमार को उनकी फिल्में हमेशा यादगार बनाये रखेगी।’ सदाबहार अभिनेता दिलीप साहब के निधन पर डॉ शुभ कुमार वर्णवाल, डॉ संजीव शमा, डॉ विनय विश्वबंधु, राधेश्याम ठाकुर, कुमार जितेंद्र, डॉ दीपक कुमार सिंह, महेश शर्मा, अजय कुमार दास, सत्यनारायण मुन्ना, नाल वादक गंगाराम पासवान, संदीप दास, रेखा कुमारी, राजकुमार राज, चीकू शर्मा, उमेश साह, हेमंत कुमार, मुकेश कुमार सिंह, कुमकुम झा, कैलाश पासवान आदि चाहनेवालों ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए ईश्वर से अपने श्री चरणों में स्थान देने की प्रार्थना की ।

Check Also

गर्व :: पीएम मोदी ने झंझारपुर के इस गांव का ‘मन की बात’ में किया जिक्र, कचरे से कमाई का सुखेत मॉडल की देशभर में चर्चा

डेस्क : बिहार के मधुबनी जिले का सुखेत गांव देश में चर्चा में है। रविवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *