Breaking News

झंझारपुर रेलवे का अतिक्रमणकारियों को नोटिस, नहीं हटे तो चलेगा बुलडोजर

झंझारपुर/मधुबनी (डॉ संजीव शमां) : रेलवे स्टेशन झंझारपुर के अधिकारियों ने रेलवे की जमीन पर अवैध कब्जा कर अतिक्रमण कर लेने वाले को जगह खाली कर देने का नोटिस जारी किया है । नोटिस जारी होने के बाद अतिक्रमणकारियों में हड़कंप मच गया है ।

बताते चलें कि रेलवे जंक्शन का निर्माण कार्य अभी पुरा भी नहीं हो सका है । आमान परिवर्तन को लेकर काम जारी है । इधर रेलवे की जमीन पर अवैध दुकान संचालित करने की जानकारी मिलने पर विभाग की आंख खुली है। अनाधिकृत रूप से कब्जा वाले जमीन को खाली करने के लिए विभागीय अधिकारियों ने नोटिस जारी कर दिया है। मालूम हो कि जल निकासी के लिए रेलवे द्वारा नाला बनाने का काम चल रहा है। निर्माणाधीन नाले पर ढक्कन चढ़ते ही स्थानीय लोगों ने अतिक्रमण करना शुरू कर दिया । कई दर्जन लोगों ने बांस बल्ला और चदरा लगाकर नाला के ऊपर दुकान भी बना लिया है । नाला चालू होने से पूर्व ही नाले पर हो रहे अतिक्रमण पर रेल विभाग की सजगता से कब्जा करने वालों में हड़कंप मच गया है ।

नाला पर अवैध अतिक्रमण को हटवाते रेल अधिकारी

बुधवार को रेलवे के आईओडब्ल्यू एवं आरपीएफ के जवान नाला पर दुकान करने वाले लोगों को अपने बांस बल्ला हटाने को कहा । इधर रेलवे द्वारा जारी नोटिस में सूचना प्राप्ति के पांच दिनों के अंदर खाली करने का समय दिया गया है । नहीं हटाने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गयी है ।

अवैध अतिक्रमणकारियों पर रेलवे सख्त

आरपीएफ इंस्पेक्टर बृजेश कुमार ने पूछने पर बताया कि रेलवे के निर्माणाधीन नाले पर अतिक्रमण किए जाने की शिकायत मिली थी ।आरपीएफ के जवान को अतिक्रमण वाले स्थल पर भेजा गया है । जरूरत पड़ेगी तो अन्य जवान भी जाएंगे। जीआरपी और लोकल प्रशासन से भी मदद ली जाएगी । जमीन का मामला इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट देखती है। उनकी रिपोर्ट पर कारवाई होती है। उन्होंने कहा कि रेल के जमीन में अतिक्रमण के खिलाफ हमारा अभियान दरभंगा डिवीजन में शुरू किया गया था । जिसके मद्देनजर जयनगर, मधुबनी और सकरी जंक्शन के आसपास बड़े पैमाने पर अतिक्रमण कारियों को हटाने का काम किया गया था।

Check Also

मधुबनी रांटी की चंदना दत्त को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार, शिक्षक दिवस को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे पुरस्कृत

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की स्पेशल रिपोर्ट : राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2021 समारोह 5 सितंबर 2021 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *